पेट्रोल पंप के स्टाफ ने पत्रकारों पर किया जानलेवा हमला

0

फैजाबाद : नोटबंदी और कैश किल्लत के बीच फैजाबाद में एक भयावह घटना सामने आई है। पेट्रोल पंप के स्टाफ ने नोटों की खातिर एक हिंदी दैनिक अखबार के चार पत्रकारों को जिंदा जलाने की कोशिश की। जब पत्रकारों ने पेट्रोल भराकर भुगतान सिक्कों में किया तो पेट्रोल पंप के स्टाफ भड़क गए और पत्रकारों से सिक्कों के बजाए नोटों में भुगतान करने के लिए कहा। बढ़ते-बढ़ते विवाद इतना बढ़ गया कि पत्रकारों की जान पर बन आई। चारों पत्रकार पेट्रोल पंप के नजदीक स्थित अपने अखबार के कार्यालय जा रहे थे। हमलावरों ने बीच रास्ते में उन पर धावा बोल दिया। उसी समय कुछ लोगों ने पुलिस को सूचित कर इस बारे में जानकारी दी जिससे मौके पर पहुंचकर पुलिस ने पत्रकारों की जान बचाई। उनमें से एक पीड़ित पत्रकार कृष्णकांत गुप्ता ने बताया, शुक्रवार को सिविल लाइन्स एरिया के एक पेट्रोल पंप पर हम पहुंचे। हमने अपनी गाड़ी में 200 रुपए का पेट्रोल भराया और 10-10 रुपए के 20 सिक्कों में भुगतान किया। पेट्रोल पंप के स्टाफ ने सिक्कों से भुगातन लेने से इनकार कर दिया और कहा कि उन्हें बैंक के नोटों में भुगतान चाहिए। जब हमने इसका विरोध करते हुए स्टाफ से पूछा कि वह सिक्के क्यों नहीं लेंगे तो इस पर स्टाफ ने हम पर जानलेवा हमला कर दिया। कोटेशन, हमलावरों ने बीच रास्ते में उन पर धावा बोल दिया। उसी समय कुछ लोगों ने पुलिस को सूचित कर इस बारे में जानकारी दी जिससे मौके पर पहुंचकर पुलिस ने पत्रकारों की जान बचाई।

Share.

About Author

Comments are closed.