हरयाणा के एक गांव में ऊंची जाति के कुछ लोगों ने एक दलित दूल्हे को उसकी बारात में उसे घोड़ा बग्गी पर चढ़ने से रोका !

0

dalit-groomकुरुक्षेत्र: हरियाणा के एक गांव में तब तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई, जब कथित ऊंची जाति के कुछ लोगों ने एक दलित दूल्हे को उसकी बारात में उसे घोड़ा बग्गी पर चढ़ने से रोक दिया और बाराती और पुलिस दल पर पथराव किया।

कुरुक्षेत्र के भूस्थाला गांव में तनाव

कुरुक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक सिमरदीप सिंह ने कहा, ‘ऊंची जाति के लोगों ने शनिवार रात कुरुक्षेत्र के भूस्थाला गांव में एक दलित दूल्हे को उसकी बारात में उसे घोड़ा बग्गी पर चढ़ने से रोक दिया। इससे दोनों समुदायों में तनाव उत्पन्न हो गया।’ उन्होंने कहा कि पुलिस के एक दल को मौके पर भेजा गया और जिसने दूल्हे को घुड़चढ़ी की रस्म करने में मदद की। हालांकि इससे ऊंची जाति के लोग नाराज हो गए और पुलिसकर्मियों और दूल्हे के रिश्तेदारों पर पथराव शुरू कर दिया।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वे लोग नहीं चाहते थे कि दूल्हा उस मंदिर में जाए, जहां ऊंची जाति के लोग अक्सर घोड़े पर जाते हैं। वे चाहते थे कि दूल्हा पैदल गांव के रविदास मंदिर जाए।

दुल्हे के पिता ने की पुलिस में शिकायत
दूल्हे के पिता सुरेश कुमार ने झांसा पुलिस थाने में दर्ज करायी गई अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि एक ब्लॉक समिति सदस्य के नेतृत्व में करीब 25 लोगों ने उसे मंदिर में प्रवेश करने पर जाने पर मारने की धमकी दी। कुमार ने अपनी शिकायत में कहा कि उन लोगों ने दूल्हे को घोड़ा बग्गी पर भी चढ़ने से रोका।

गांव में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात

गांव प्रधान राजिंदर सिंह ने कहा कि कुछ ‘गुमराह’ युवकों ने ‘स्थिति निर्मित’ की, लेकिन पुलिस की मदद से उसे काबू में कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कोई ताजा हिंसा को रोकने के लिए गांव में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। पुलिस ने 21 लोगों के खिलाफ अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति कानून की संबंधित धाराओं के तहत एक मामला दर्ज किया है लेकिन अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Share.

About Author

Comments are closed.