मैच जीतने के बाद रोहित शर्मा का यह बयान छू लेगा आपका दिल

0

नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे रोहित शर्मा ने कहा है कि वे दर्शकों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए खेलते हैं। रोहित के नाबाद 111 रन की रिकॉर्ड शतक की मदद से पहली बार किसी अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी कर रहे भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में मंगलवार को वेस्टइंडीज को 71 रन से हराकर तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली।

रोहित ने मैच के बाद कहा, “मैंने टॉस के समय कहा था कि यहां ज्यादा मैच नहीं खेले गए हैं। हम पहले पिच को परखना चाहते थे कि वह कैसा बर्ताव कर रही है, इसलिए हमने अपना समय लिया। यह समझना जरूरी था कि पिच कैसा खेल रही है।”

उन्होंने कहा, “जब भी आपको अपना सर्वश्रेष्ठ करने का मौका मिले तो उसे छोड़ना नहीं चाहिए। मुझे उम्मीद है कि जो भी आज मैच देखने आए थे, वे आज अपने चेहरे पर मुस्कान लेकर लौटेंगे। हम दर्शकों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए ही खेलते हैं। ”भारत ने निर्धारित 20 ओवर में दो विकेट के नुकसान पर 195 रन का मजबूत स्कोर बनाया और फिर वेस्टइंडीज को निर्धारित 20 ओवर में नौ विकेट पर 124 रन पर समेट दिया।

रोहित ने बल्लेबाजों की तारीफ करते हुए कहा, “शिखर का खेल गेंदबाजों पर दबाव बनाना है। वह पिछले कुछ मैचों में ज्यादा रन नहीं बना सका, जिसकी वजह से अपना समय लेना चाहता था। हमने शुरूआत में पिच पर समय बिताया और फिर शिखर ने शॉट्स लगाना शुरू किया। मुझे लगता है कि हमने अच्छी साझेदारियां की और राहुल ने भी अच्छा समापन किया।” रोहित को उनकी शानदार शतकीय पारी के लिए मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार प्रदान किया गया।

कप्तान ने गेंदबाजों की प्रशंसा करते हुए कहा, “बुमराह हमारे प्रमुख गेंदबाजों में से एक है। हम वनडे की तुलना में टी-20 में उनका अलग तरह इस्तेमाल करते हैं। खलील भी नई गेंद के साथ अलग गेंदबाज हैं। वह गेंद को स्विंग करा रहे थे और चुनौती का अच्छे से सामना करने को तैयार थे। खलील जैसे गेंदबाज अगर विकेट निकालते हैं तो टीम को इससे मदद मिलती है।”

Share.

About Author

Leave A Reply