मानसिक रूप से सबसे मजबूत साइना के पास आल इंग्लैंड जीतने का सुनहरा मौका : विमल

0

साइना नेहवाल के पूर्व कोच विमल कुमार का मानना है कि वह मानसिक रूप से देश की सबसे मजबूत बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और इतने लंबे कैरियर का राज चोटों से उबरकर वापसी करने की उसकी क्षमता है। साइना गत साल के आखिर में चोटिल हुई थी लेकिन वापसी करके उसने इंडोनेशिया मास्टर्स खिताब जीता जब कैरोलिना मारिन ने पैर की चोट के कारण फाइनल छोड़ दिया।

2014 से 2017 तक साइना के कोच रहे विमल ने प्रेस ट्रस्ट से कहा कि वे मानसिक रूप से सबसे मजबूत है। पुरूष खिलाड़ियों से भी ज्यादा। उन्होंने कहा कि कोर्ट पर होने पर वह ज्यादा नहीं सोचती। उसे इससे भी फर्क नहीं पड़ता कि उसे दर्द हो रहा है।

वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके विरोधी के लिए मुश्किलें खड़ी करती है। विमल का मानना है कि मारिन और दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइ झू यिग के चोटिल होने से साइना और पीवी सिंधू के पास आल इंग्लैंड खिताब जीतने का सुनहरा मौका है। उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया में मिली जीत से साइना का आत्मविश्वास काफी बढा होगा और इससे उसे आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप जीतने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि कैरोलिना को चोट से उबरने में पांच छह महीने लगेंगे लिहाजा आल इंग्लैंड में मुकाबला खुला होगा। कैरोलिना और ताइ झू प्रबल दावेदार थी। अब साइना और सिधू के पास सुनहरा मौका है। मार्च में 29 बरस की होने जा रही साइना शीर्ष 10 में सबसे उम्रदराज खिलाड़ी है और विमल का कहना है कि उसे फार्म बरकरार रखने के लिए चतुराई से अभ्यास करना होगा। उन्होंने कहा कि वे कई बार चोटों का शिकार हुई है। मैं ओलंपिक में उसके साथ था।

वह अच्छी तैयारी कर रही थी और अचानक चोट लग गई। उसने वापसी की और इसके लिए उसे श्रेय देना चाहिए। अब उसे चतुराई से अभ्यास करना होगा क्योंकि अगले साल ओलंपिक है। इतनी दूर की नहीं सोचें तो अभी आल इंग्लैंड में खिताब पर फोकस करना चाहिए।

Share.

About Author

Leave A Reply