सुशील मोदी ने फिर किया लालू पर बड़ा खुलासा।

0

राष्ट्रीय उजाला संवाददाता
नई दिल्ली/पटना। बेनामी संपत्ति को लेकर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर जो आरोप के बाद आयकर विभाग ने छापेमारी शुरू कर दी है। इस कार्रवाई के बीच ही बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने एक और खुलासा किया है। खुलासे में सुशील मोदी ने हवाला का आरोप लगाते हुए नए शख्स का नाम ले लिया है।

लालू परिवार से हवाला आपरेटर विवेक नागपाल का भी नाम जुड़ा
प्रेम चन्द्र गुप्ता, ओ.पी, कत्याल, अशोक बन्थिया, कांति सिंह, रधुनाथ झा और 8 हजार करोड़ के मनी लांड्रिंग मामले में जेल में बंद वीरेन्द्र जैन जैसे लोगों के साथ लालू परिवार से हवाला आपरेटर विवेक नागपाल का भी नाम जुड़ गया है।

बीजेपी नेता के अनुसार मीसा भारती ने 1998 में स्थापित इस कम्पनी को मात्र 1 लाख में खरीद लिया। विवेक नागपाल ने अपने सारे शेयर (10 हजार) मीसा भारती को दे दिया। आज इस कम्पनी में मीसा भारती के 9900 और शैलेश कुमार के 100 शेयर हैं। अन्य कम्पनियों के समान इस कम्पनी में न कोई कर्मचारी है, न कोई और है। न ही इस कंपनी ने कोई व्यवसाय किया।

पहले 42 लाख 33 हजार की रिहायशी प्रॉपर्टी सैनिक फार्म में खरीदी गई

सुशील मोदी के अनुसार सन 2011-12 में पहले 42 लाख 33 हजार की रिहायशी प्रॉपर्टी सैनिक फार्म में खरीदी गई। फिर अगले साल 2012-13 में सैनिक फार्म में 1 करोड़ 78 लाख की जमीन खरीदी गयी। दिल्ली के सबसे मंहगे इलाके सैनिक फार्म में 2 बीघा 8 विस्वा जमीन खरीदी गयी।

यह लोन कब वापस हुआ, पता नहीं? 42 लाख 33 हजार की रिहायशी जमीन और 1 करोड़ 78 लाख की 2 बीघा 8 बिस्वा जमीन के मालिक लालू की बड़ी वारिस मीसा भारती हो गई।

मीसा भारती ने कम्पनी से डायरेक्टर के रूप में 2014-15 में 2 लाख 40 हजार वेतन उठाया। आज इस जमीन की कीमत 50 करोड़ से ज्यादा है। मीसा भारती ने इस कम्पनी से डायरेक्टर के रूप में 2014-15 में 2 लाख 40 हजार एवं 2015-16 में 1 लाख 20 हजार वेतन के रूप में प्राप्त किए। सवाल पैदा होता है कि आखिर विवेक नागपाल ने 1998 में स्थापित अपनी कम्पनी को क्यों लालू परिवार को सौंप दिया।

बंद पड़ी कम्पनी को 23 करोड़ का ऋण इंडिया बुल्स ने क्यों दिया?

बंद पड़ी कम्पनी को 23 करोड़ का ऋण इंडिया बुल्स ने क्यों दिया? क्या बिना जमीन के मकान खरीदा जाता है क्या? परन्तु यहाँ 48 लाख का मकान 2010 में खरीदा और फिर 2014 में 2 बीघा 8 बिस्वा जमीन 1 करोड़ 78 लाख में खरीदा। सरकारी मकान का व्यावसायिक इस्तेमाल नहीं हो सकता है।

कागजात बनने के लिए मीसा भारती एवं शैलेश कुमार ने लालू प्रसाद का सरकारी आवास 25, तुगलक रोड, नई दिल्ली का इस्तेमाल किया। आखिर मकान और जमीन खरीदने के लिए बंद पड़ी कम्पनी के पास 2 करोड़ 30 लाख कहां से आया?

Share.

About Author

Comments are closed.