सपा सदस्यों ने किया सदन से बहिर्गमन।

0

लखनउ: उत्तर प्रदेश विधान परिषद में आज प्रश्नकाल के दौरान चर्चा के दायरे में नहीं आ सके एक सवाल पर वक्तव्य की मांग को लेकर सरकार के रख से नाराज समाजवादी पार्टी :सपा: सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन किया। अपराहन 12 बजे प्रश्नकाल समाप्त होते ही सपा सदस्य बलराम यादव ने सदन में अपनी पार्टी के सदस्य नरेश चन्द उत्तम का सवाल उठाते हुए इस पर सरकार से वक्तव्य की मांग की। वह मुद्दा स्ववित्त पोषित माध्यमिक विद्यालयों के एक लाख 92 हजार 123 शिक्षकों के मानदेय से सम्बन्धित था, जिनके लिए पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार ने मानदेय की व्यवस्था की थी। प्रश्न में पूछा गया था कि क्या स्ववित्त पोषित माध्यमिक विद्यालयों के वित्तविहीन शिक्षकों को मानदेय दिये जाने का प्रावधान है। इसके लिखित उत्तर में प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा मंत्री उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि ऐसी कोई नीति या प्रावधान नहीं है। सपा सदस्यों द्वारा शून्यकाल में यह मुद्दा उठाये जाने पर शर्मा ने पीठ से मुखातिब होते हुए कहा कि प्रश्नकाल समाप्त हो गया है, लिहाजा शून्यकाल में प्रश्न उठाना नियम संगत नहीं है, इसलिये वह इसका जवाब देने के लिये बाध्य नहीं हैं। ग्राम्य विकास राज्यमंत्री डाक्टर महेन्द्र सिंह ने भी नेता सदन दिनेश शर्मा का समर्थन करते हुए कहा कि अगर यह मुद्दा इतना ही गम्भीर था तो इसे अलग सूचना के रूप में सदन में रखा जाना चाहिये था। इस पर सपा के कई सदस्यों ने हाथ में प्रश्नोत्तरी उठाते हुए दलील दी कि यह मुद्दा कार्यवाही में शामिल था।

Share.

About Author

Comments are closed.