शादी के लिए मुहूर्त से पहले पहुंच गई ट्रेन

0

नई दिल्ली। प्रभु की लीला का कोई अंत नही है। हम यहां रेलमंत्री सुरेश प्रभु की बात कर रहे हैं। रेलवे आजकल अपनी लेटलतीफी के कारण चर्चा में है, शायद ही कोई ट्रेन टाइम पर चल रही हो, पर जब बात किसी भी इमर्जेंसी की आती है, तो प्रभु पीछे नही हटते, तुरंत कार्रवाई करते हैं। ऐसे कई वाकये पहले भी हुए, लेकिन ताजा मामला एक दूल्हे की गुहार से जुड़ा हुआ है। ट्रेन की देरी की वजह से शादी का मुहूर्त निकला जा रहा था। इस कठिन परिस्थिति में दूल्हे ने ट्वीट के जरिए प्रभु को याद किया। फिर क्या था प्रभु ऐक्शन में आए और ट्रेन को मुहूर्त से पहले पहुंचा कर दूल्हे-दुल्हन को मिलने का अवसर प्रदान किया।

भोजपुर से दिल्ली को चली थी बारात
मामला बिहार के भोजपुर के सुशील कुमार का है जो दूल्हा बनकर 86 बरातियों के साथ मगध एक्सप्रेस से शादी करने दिल्ली के लिए रवाना हुए। सुशील कुमार ने महीनों पहले ट्रेन में रिजर्वेशन बुक कराया था, लेकिन मगध एक्सप्रेस लगातार लेट चल रही थी, कभी 6 घंटे तो कभी 10 घंटे। लोगों के मन में पहले से ही खटका था कि पता नही बारात समय पर दिल्ली पहुंच पाएगी या नहीं।

बारात रविवार को आरा से मगध एक्सप्रेस से दिल्ली के लिए रवाना हुई। ट्रेन के दिल्ली पहुंचने का समय 11.50 सुबह निर्धारित है, लेकिन यह ट्रेन रविवार को आरा में ही थोड़ी लेट रात 10:33 पहुंची। इस हिसाब से ट्रेन के और लेट होने की आशंका बढ़ने लगी। दूल्हे ने हिसाब लगाया कि अगर ट्रेन 6 घंटा भी लेट दिल्ली पहुंची, तो शादी का सोमवार को शाम 6 बजे का मुहूर्त निकल जाएगा और यह आशंका सच भी होने लगी, क्योंकि इलाहाबाद पहुंचते-पहुंचते यह ट्रेन 5:05 घंटा लेट हो गई।

रेलमंत्री से लगाई गुहार
तब दूल्हे ने प्रभु को गुहार लगाई। दूल्हे ने रेलमंत्री के ट्विटर एकाउंट और उनके पोर्टल पर शिकायत की। दूल्हे ने लिखा कि मगध एक्सप्रेस पिछले कई दिनों से 6 से 10 घंटा लेट चल रही है। अगर यह सोमवार यानि 15 मई को लेट हुई तो उसके विवाह का शाम 6 बजे का मुहूर्त निकल जाएगा। इस संदेश के बाद ही रेल मंत्री सुरेश प्रभु तुरंत हरकत में आए। दो जोड़ों के इस मिलन में रेल बाधा न बने, इसलिए उन्होंने तुरंत कार्रवाई शुरू की।

चूंकि यह ट्रेन मुगलसराय और पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के बाद उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद रेल मंडल से गुजरती है, लिहाजा ट्विटर की शिकायत को रेल मंत्रालय ने लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ से शिकायत को इलाहाबाद रेफर किया गया। रेल मंत्री ने दूल्हे की परेशानी को कुछ हद तक कम किया। ट्रेन इलाहाबाद पहुंचने तक 5:05 घंटा लेट हो गई थी, जबकि कानपुर आने तक यह 5:45 घंटा पिछड़ गई थी। ट्रेन फिरोजाबाद पहुंची तो 6:39 घंटा लेट हो चुकी थी।

उधर वधू पक्ष भी ट्रेन की सुस्त चाल से परेशान हो रहा था। लिहाजा उधर से दूल्हे को बार-बार फोन कर उसकी लोकेशन ली जा रही थी। परेशान दूल्हा रेल मंत्री के ट्विटर पर बार-बार ट्रेन को तेज चलाने की गुहार लगाता रहा। रेल मंत्री के आदेश पर कुछ राहत मिली और ट्रेन ने अपना समय दो घंटा कवर कर लिया। ट्रेन नई दिल्ली 4:55 घंटे की देरी से शाम 4:45 बजे पहुंची तो दूल्हे ने राहत की सांस ली।

दूल्हा-दुल्हन के अलावा उनके परिजनों ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु का शुक्रिया अदा किया है। दूल्हा सुशील नई दिल्ली सूचना भवन में इलेक्ट्रॉनिक मिडिया कन्टेन्ट मॉनिटर के पद पर कार्यरत है। इसी पोस्ट पर कार्यरत गाजियाबाद के शालीमार गार्डेन निवासी मनोज शर्मा की पुत्री प्रीति से दो वर्ष पहले उन्हें प्रेम हुआ था। इसके बाद दोनों के परिवार वालों की रजामंदी से यह शादी तय हुई। सुशील ने बताया कि उन्हें इस बात का काफी टेंशन था कि कहीं शुभ मुहूर्त न निकल जाए।

Share.

About Author

Comments are closed.