परवेज मुशर्रफ की नागरिकता हुई रद्द, विदेशों में रहना होगा गैरकानूनी

0

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पाकिस्तान के केयरटेकर प्रधानमंत्री नासिरुल मुल्क ने परवेज मुशर्रफ के पहचान पत्र और पासपोर्ट को तुरंत रद्द करने का आदेश जारी किया है। इससे परवेज मुशर्रफ की पाकिस्तानी नागरिकता भी खत्म हो गई है।

बता दें कि 2007 में संविधान को पलटकर राष्ट्रपति शासन लगाने को लेकर परवेज मुशर्रफ पर देशद्रोह का मामला चल रहा था परवेज मुशर्रफ 2014 में राजद्रोह के मामले में दोषी पाए गए थे। इसके बाद से ही उन पर पाक की विशेष अदालत में सुनवाई चल रही है। इसी की सुनवाई कर रही अदालत ने 1 जून को ही इससे जुड़ा एक आदेश जारी किया था। इसमें कहा गया था कि विशेष अदालत के 8 मार्च के फैसले के आधार पर मुशर्रफ का पासपोर्ट और पहचान पत्र रद्द कर दिया जाना चाहिए।

नासिरुल मुल्क के आदेश के बाद नेशनल डेटाबेस एंड रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी (NADRA) ने मुशर्रफ के राष्ट्रीय पहचान पत्र को रद्द कर दिया। वहीं, पहचान पत्र रद्द होने से उनका पासपोर्ट अपने आप ही रद्द हो गया। इस कार्रवाई के बाद अब परवेज मुशर्रफ के पास उस देश में रहने का कानूनी हक भी खत्म हो गया है, जहां वो मौजूदा समय में रह रहे हैं। बताया जा रहा है कि फिलहाल मुशर्रफ दुबई में हैं। राष्ट्रीय पहचान पत्र और पासपोर्ट रद्द होने के चलते अब उनका दुबई में रहना गैर कानूनी हो गया है। ऐसे में दुबई प्रशासन मुशर्रफ को पाकिस्तान को प्रत्यर्पित कर सकता है।

आपको बता दें कि परवेज मुशर्रफ 18 मार्च 2016 को चिकित्सा उपचार के लिए पाकिस्तान से दुबई गए थे, लेकिन फिर वापस नहीं लौटे। इसके बाद विशेष अदालत ने उन्हें भगोड़ा अपराधी घोषित कर दिया था और साथ ही मामले में उनके पेश नहीं होने के कारण उनकी संपत्ति जब्त करने का आदेश भी दिया था।पाकिस्तान की अदालत ने संघीय सरकार को यह आदेश भी दिया था कि वह मुशर्रफ के कम्प्यूटरीकृत राष्ट्रीय पहचान पत्र और पासपोर्ट को निलंबित कर दे।

Share.

About Author

Leave A Reply