चाबहार पोर्ट पर अपने राजदूत के बयान पर ईरान ने दी सफाई

0

ईरान का कहना है कि वह ऊर्जा की आपूर्ति के लिए हमेशा भारत का एक भरोसेमंद साथी रहेगा। साथ ही ईरान ने कहा कि भारत को तेल की आपूर्ति के लिए उसका रुख हमेशा लचीला ही रहेगा। ईरान के दूतावास की ओर से यह बयान उस समय आया है जब उसके डिप्‍टी-एंबेसडर मसूद रिजवानियन रहागी ने चाबहार पोर्ट पर भारत को एक दिन पहले ही चेतावनी दी है। राहगी ने कहा था कि अमेरिका के प्रतिबंध के बाद अगर भारत ने ईरान से तेल आयात में कटौती की तो ईरान भारत को मिलने वाली खास सुविधाएं बंद कर देगा।

दूतावास की ओर से कहा गया है कि रहागी के बयान को गलत तरीके दिया गया है। वह अस्थिर ऊर्जा बाजार से निपटने में भारत को हो रही दिक्कतों को समझता है। उसने कहा कि ईरान द्विपक्षीय व्यापार खासतौर पर ईरान से होने वाले तेल के आयात को बनाये रखने के लिए विभिन्न कदम उठाकर भारत की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ करेगा। पिछले दिनों अमेरिका ने भारत समेत चीन और उन तमाम देशों को अल्‍टीमेट दिया था और कहा था कि अगर चार नवंबर तक उन्‍होंने ईरान से तेल लेना बंद करना होगा।

राहगी ने कहा था ईरान, भारत को मिलने वाले तमाम सुविधाओं को खत्‍म कर देगा अगर भारत ने ईरान की जगह सऊदी अरब, रूस, इराक, अमेरिका जैसे दूसरे देशों से तेल लेना शुरू किया। राहगी ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि चाबहार पोर्ट के विस्‍तार के लिए जिस भारतीय निवेश का वादा किया गया था और इससे दूसरे हिस्‍सों से जोड़ने के लिए जिन प्रोजेक्‍ट्स की बात की गई थी, उन्‍हें अभी तक पूरा नहीं किया गया है। उम्‍मीद है कि भारत इस दिशा में जरूरी कदम उठाएगा अगर इस पोर्ट पर उसका सहयोग रणनीतिक है। राहगी ने यह बात एक सेमिनार के दौरान कही थी।

Share.

About Author

Leave A Reply