ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने से अबतक 62 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

0

ग्वाटेमाला में सोमवार को हुए फ्यूएजो ज्वालामुखी विस्फोट में अबतक 62 लोगों की मौत हो गई। देश के आपदा विभाग के मुताबिक बचावकर्मियों ने पास के गांव से कई शव बरामद किए हैं। इस घटना के बाद से कई लोग लापता हो गए हैं, जिनकी अभी भी तलाश जारी है। इसके अलावा अबतक 4 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

ज्वालामुखी विस्फोट के बाद से ग्वालोमाला के राष्ट्रपति ने तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। अभी भी ग्वाटेमाला से मिलने वाली तस्वीरों में कई किलोमीटर तक हवा में राख के बादल देखे जा रहे हैं। ग्वाटेमाला सिटी इस ज्वालामुखी से 40 किलोमीटर दूर है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इस घटना से करीब 17 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। ज्वालामुखी विस्फोट की वजह से ग्वाटेमाला की एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है।

स्थानीय विशेषज्ञों का कहना है कि साल 1974 के बाद से ये सबसे बड़ा ज्वालामुखी विस्फोट है। एक सरकारी अधिकारी ने स्थानीय रेडियो स्टेशन को बताया कि ज्वालामुखी से निकलने वाले लावा की एक धारा ने एल रोडियो गांव की तरफ रुख कर लिया है। ये लावा नदी की तरह बह रहा है। इससे एल रोडियो गांव पूरी तरह से जल चुका है।

जानकारों के मुताबिक हर साल ज्वालामुखी फटने की ऐसी करीब 60 घटनाएं होती हैं। कई ज्वालामुखी अचानक फट जाते हैं तो कई लंबे समय से सुलग रहे होते हैं। अधिकारियों ग्वाटेमाला क्षेत्र में राखों के बचने के लिए मास्क पहनने की सलाह दी है।

Share.

About Author

Leave A Reply