बेटी-पत्नी को झटका देकर अरबों की जायदाद नौकर के नाम कर गए भय्यूजी महाराज

0

आध्यात्मिक गुरू भय्यूजी महाराज आत्महत्या मामले में पुलिस को एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें भैय्यूजी ने अपनी अरबों की संपत्ति अपने सेवादार विनायक के नाम कर दी है। भय्यूजी महाराज के पास अरबों रुपये की संपत्ति थी। वह मर्सीडीज़ में घूमते थे, रोलेक्स पहनते थे, आलीशान भवन में रहते थे। इसके अलावा वह ‘सादगीपूर्ण भव्य’ आश्रम से गतिविधियां चलाते थे।

पुलिस के मुताबिक, मिले सुसाइड नोट में भय्यूजी महाराज ने अपने आश्रम, जायदाद और अपनी वित्‍तीय शक्‍तियों की सारी जिम्‍मेदारी अपने सेवादार विनायक को सौंप दी है। उनके सुसाइड नोट में साफ लिखा है कि उनके बाद आश्रम और उससे जुड़ी सभी वित्‍तीय शक्‍तियां उनके वफादार सेवादार विनायक ही उठाएंगे। बता दें कि विनायक पिछले 15 सालों से भय्यू जी महाराज के साथ रहता था। उसे भैय्यू जी महाराज अपना सबसे खास मानते थे। सुसाइड नोट में भय्यूजी महाराज ने लिखा है, “मैं विनायक पर ट्रस्ट करता हूं। इसलिए उसे ये सारी जिम्मेदारी देकर जा रहा हूं और ये मैं बिना किसी दबाव के लिख रहा हूं.” बता दें कि जब भैय्यू जी ने खुद को गोली मारी तब विनायक भी घर पर मौजूद था।

पुलिस ने भैय्यूजी की लाश के पास से सुसाइड नोट के अलावा रिवॉल्वर, मोबाइल, टैब, लैपटॉप, फोन सहित 7 गैजेट्स जब्त कर लिए हैं। परिवार और आश्रम से जुड़े लोगों से पूछताछ की जा रही है। अब पुलिस सुसाइड नोट की सत्यता की जांच कर रही है। भय्यू महाराज ने मंगलवार को यहां अपने घर में कनपटी पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी। घटना के समय उनकी पत्नी आयुषी घर पर मौजूद नहीं थीं। प्राथमिक जांच में यही कहा जा रहा है कि भय्यूजी महाराज के सुसाइड करने के पीछे पारिवारिक कलह है। फिलहाल पुलिस ने भय्यूजी महाराज का लैपटॉप, मोबाइल और डायरी को जब्त कर लिया है और उनके घर के लोगों से पूछताछ कर रही है।

Share.

About Author

Leave A Reply