‘देवरिया मामले में वो लोग सवाल उठा रहे हैं जिन्होंने खुद इन संस्थाओं को स्थापित किया’ : कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी

0

देवरिया बालिका गृह में बच्चियों से रेप के मामले में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने विपक्ष पर बड़ा हमला बोला है। देवरिया मामले में सवालों के घेरे में आई योगी सरकार का बचाव करते हुए सपा और बसपा पर पलटवार किया है। रीता ने कहा कि इस मामले में वो लोग सवाल उठा रहे हैं जिन्होंने खुद ही इन संस्थाओं को स्थापित किया है। रीता ने कहा सपा और बसपा इन बाल गृहों का पालन पोषण कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विपक्ष मामले पर राजनीति कर रहा है। सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सपा सरकार ने ही सीडब्लूसी का गठन किया था, जो अपना काम नहीं कर रही थी। आदेशों के बाद भी अधिकारी काम नहीं कर रहे थे।

रीता बहुगुणा जोशी ने प्रेस कांफ्रेस करके कहा कि मामले की जांच चल रही है जो भी दोषी हैं उनको बख्शा नहीं जाएगा। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मामले की जानकारी देते हुए रीता बहुगुणा ने बताया कि मान्यता खत्म होने के बावजूद पुलिस बच्चों को क्यों और कैसे भेजती रही। इसकी जांच चल रही है। साथ ही बाल विकास अधिकारी सभी रिकार्डों की जांच कर रहे हैं। देवरिया केस में 15 नोटिस दी गई जबकि निदेशालय ने पांच पत्र दिए गए थे। बच्ची ने शिकायत की है कि उसका शारीरिक शोषण किया गया है। इसी आधार पर मेडिकल और बयान लिए जा चुके हैं। सेक्स रैकेट के खुलासे के बाद संचालिका और उसके पति को गिरफ्तारी कर ली गई थी। इस मामले में तत्कालीन जिला प्रोवेशन अधिकारी की तहरीर पर पुलिस ने संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और पति मोहन त्रिपाठी को जेल भेज दिया।

देवरिया मामले में विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। समाजावादी पार्टी ने योगी के सीएम पद से इस्तीफे तक की मांग कर दी है तो दूसरी तरफ अखिलेश यादव ने भी ट्वीट करके कई सवाल खड़े किए थे। अखिलेश ने कहा कि जहां जहां भाजपा की सत्ता है वहां महिला अपराध बढ़े हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी भाजपा पर जमकर निशाना साधा था।

Share.

About Author

Leave A Reply