डायनैमिक फेयर व्यवस्था खत्म करने की तैयारी, रेल मंत्री कर रहे विचार

0

राजधानी, दुरंतो और शताब्दी एक्सप्रेस से सफर करने वाले लोगों को जल्द ही डायनैमिक फेयर की व्यवस्था से राहत मिल सकती है। सरकार इस व्यवस्था को लेकर विचार कर रही है। इस बात की जानकारी खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी है। गोयल ने एक कार्यक्रम में पिछले 4 साल के दौरान भारतीय रेलवे की उपलब्ध‍ियां गिनाई। उन्होंने कहा, ”सरकार कुछ ट्रेनों में शुरू की गई डायनैमिक फेयर की व्यवस्था को लेकर फिर से विचार कर रही है। एक समिति की सिफारिशों के आधार पर इस पर कोई फैसला लिया जाएगा।” उन्होंने बताया कि फिलहाल कमिटी की तरफ से दिए गए सुझावों पर विचार-विमर्श चल रहा है।

दरअसल, डायनैमिक फेयर अथवा फ्लेक्सी फेयर की व्यवस्था भारतीय रेल ने 2016 में शुरू की थी। यह व्यवस्था फिलहाल दुरंतो, राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस में लागू है। इस व्यवस्था के तहत मांग के आधार पर टिकटों का बेस फेयर तय किया जाता है। इसके तहत टिकटों की डिमांड जितनी ज्यादा होगी, उतना ही महंगा उसका टिकट मिलेगा। अगर सरकार डायनैमिक फेयर की व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लेती है, तो इससे सभी लोगों को एक ही बेस प्राइस पर टिकट मिलेगा। इससे लोगों को डिमांड बढ़ने पर ज्यादा कीमत टिकट के लिए नहीं चुकानी पड़ेगी।

रेल मंत्री पीयूष गोयल और राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने सोमवार को दोनों ऐप को लॉन्च किया। रेलवे ने ‘रेल मदद’ और ‘मेन्यू ऑन रेल’ ऐप को लॉन्च किया है। ‘मेन्यू ऑन रेल’ ऐप के जरिए यात्री खाने-पीने की चीजों के बारे में जानकारी ले सकेंगे। इसके साथ ही इसके जरिए खाने के मेन्यू की कीमत भी बताई जाएगी। ‘रेल मदद’ ऐप से यात्री रेल से संबंधी किसी भी शिकायत को दर्ज करा सकेंगे। रेलवे ने पिछले महीने इन दोनों ऐप को लॉन्च करने की घोषणा की थी। रेलवे ने यात्रियों की शिकायत दर्ज करने और समस्या हल करने के लिए ‘रेल मदद’ नाम का ऐप लॉन्च किया है।

Share.

About Author

Leave A Reply