जैश-ए-मोहम्मद के 3 आतंकियों ने NIA के सामने कबूल किया ये बड़ा हमला

0

नवंबर 2016 में नागोटा सेना शिविर पर हमले के आरोप में गिरफ्तार किए गए मोहम्मद आशिक बाबा, तारिक अहमद डर, मुनीर-उल-हसन कदरी ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया है कि वे पाकिस्तान में स्थित जैश-ए-मोहम्मद कमांडरों के साथ नियमित संपर्क में थे। तीनों आतंकियों ने एनआईए की पूछताछ में ये खुलासा किया है।

बता दें किराष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने इन तीनों आतंकियों मोहम्मद आशिक बाबा , तारिक अहमद डार और मुनीर अल हसन कादरी को गिफ्तार किया था। इसके बाद इनको कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने इनको रिमांड पर भेज दिया है। एनआइए ने आतंकी मोहम्मद आशिक बाबा को कोर्ट में पेश करते हुए रिमांड की अपील की थी। एनआईए ने कहा था कि आरोपियों से पूछताछ जरूरी है। इसके बाद कोर्ट ने आरोपी मोहम्मद आशिक बाबा को एनआईए की अपील को मंजूर कर लिया था। इसके साथ ही कोर्ट ने आरोपी बाबा का मेडिकल कराने का आदेश भी दिया था।

बता दें कि 29 नवंबर 2016 को जैश के तीन आत्मघाती आतंकियों ने नगरोटा स्थित सेना के कैंप पर हमला किया था। इस हमले में 7 जवान शहीद हो गए थे। सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों को मार गिराया था। आतंकियों से भारी मात्रा में हथियार, गोलाबारूद और अन्य साजोसामान मिला था। इस हमले की जांच एनआइए को सौंपी गई थी।

Share.

About Author

Leave A Reply