जम्मू कश्मीर में 22 साल बाद लगाया गया राष्ट्रपति शासन

0

जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन के छह माह पूरे हो जाने के बाद राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने के लिए सोमवार को केंद्र सरकार को सिफारिश भेजी थी। जिसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया गया है। करीब 22 साल बाद सूबे में राष्ट्रपति शासन लगा है। इससे पहले साल 1990 से अक्टूबर 1996 तक जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन रहा था।

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केजम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद सभी विधायी और वित्तीय अधिकार संसद के पास चले गए हैं। हालांकि केंद्र के प्रतिनिधि के तौर पर राज्य के प्रशासनिक मुखिया राज्यपाल ही बने रहेंगे लेकिन वो केंद्र की सहमति से ही काम कर सकेंगे।

इस साल 18 जून को भाजपा के अलग होने के बाद पीडीपी की सरकार अल्पमत में आ गई थी। जिसके बाद जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू हुआ था। 18 जून से निलंबित हुई विधानसभा को राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 21 नवंबर को भंग कर दिया था। मंगलवार को राज्यपाल शासन के छह माह पूरे हो गए। राज्यपाल शासन को छह माह से ज्यादा समय तक लागू नहीं रखा जा सकता, ऐसे में राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय को इस संबंध में एक पत्र भेजा था, जिसके बाद केंद्रीय कैबिनेट ने राष्ट्रपति शासन लागू करने के प्रस्ताव मंजूर किया। केंद्र सरकार ने 18 दिसंबर को राज्यपाल शासन के छह माह पूरे होने के अगले ही दिन बुधवार को राज्य में राष्ट्रपति शासन को सहमति दी।

Share.

About Author

Leave A Reply