कश्मीर में बर्फबारी: प्रमुख राजमार्ग बंद, दिल्ली आ रहे 500 करोड़ के सेब बर्बाद

0

जम्मू-कश्मीर में इन दिनों भारी बर्फबारी हो रही है और इसका घाटी के सेब बागानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। बीते 24 घंटों से लगातार हो रही बर्फबारी से सेब की तैयार फसल को नुकसान तो पहुंचा ही है, लकिन साथ ही बर्फबारी के चलते प्रमुख राजमार्ग बंद हो चुके हैं और सेब को राज्य से बाहर निकालना नामुमकिन हो गया है। एक त्वरित अनुमान के मुताबिक 24 घंटें में बर्फबारी के चलते सेब किसानों को लगभग 500 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

कश्मीर में सेब की खेती करने वाले किसानों को उम्मीद भी नहीं थी कि नवंबर में इस तरह बर्फबारी होगी। कई वर्षों से घाटी में नवंबर के पहले हफ्ते के दौरान ऐसी बर्फबारी देखने को नहीं मिली। किसान इस बर्फबारी का सामना करने के लिए वह तैयार नहीं थे और बड़ी मात्रा में पेड़ों से तोड़े हुए सेब बागान में पड़े थे। पेड़ों पर भी बड़ी मात्रा में तोड़े जाने के लिए सेब तैयार थे लेकिन भारी बर्फबारी के चलते यह काम बाधित हुआ और सेब खराब हो गए। इसके अलावा सेब से लदे सैकड़ों ट्रक जम्मू-कश्मीर नेशनल हाइवे पर बाधित हो गए हैं। बता दें कि बर्फबारी के दौरान राजमार्ग पर कई जगह लैंडस्लाइड की रिपोर्ट के बीच राजमार्ग को बंद करना पड़ा। हालांकि सोमवार दोपहर के बाद कई सड़कों पर यातायात चालू कर दिया गया है।

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, दक्षिण कश्मीर के इलाकों में राजमार्गों की हालत बेहद खराब है। इन क्षेत्रों में शोपियान, पुलवामा और त्राल में राजमार्गों को नुकसान पहुंचा है। वहीं उत्तर कश्मीर में सोपोर, बारामुल्ला समेत कई इलाकों में सड़कों को नुकसान पहुंचने की रिपोर्ट आई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राजमार्ग को पहुंचे नुकसान के चलते सेब से लदे लगभग 5,000 ट्रक फंसे हुए हैं। कश्मीर से यह ट्रक बर्फबारी से पहले दिल्ली के लिए रवाना कर दिए गए थे। इस फसल से किसानों को दिल्ली और आसपास के इलाकों से दीपावली के दौरान अच्छे मुनाफे की उम्मीद थी।

गौरतलब है कि बर्फबारी से पहले कश्मीर से सेस से भरे ट्रक राजधानी दिल्ली के लिए रवाना किए गए थे। किसानों को उम्मीद थी कि इससे दीपावली के दौरान अच्छा मुनाफे होगा। जहां एक तरफ ट्रकों में लदे इन सेबों से किसान कारोबारी को नुकसान हो रहा है वहीं दिल्ली और आसपास के इलाकों में त्यौहार के दौरान सेब की कीमतों में उछाल आने की संभावना दिखाई दे रही है।

Share.

About Author

Leave A Reply