ओडिशा से टकराया ‘तितली’तूफान, तेज हवा से पोल उखड़े, कई जगह लैंडस्लाइड

0

चक्रवाती तूफान तितली उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के तटीय तटों तक पहुंच गया है। चक्रवात की आशंका के मद्देनजर ओडिशा राज्य सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। तूफान इतना तेज है कि कई पेड़ उखड़ गए है। गुरुवार सुबह तूफान ओडिशा के तटीय इलाकों से टकराया। फिलहाल इन इलाकों में भारी बारिश हो रही है। चक्रवात ओडिशा के तटीय इलाकों से गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे टकराया। गोपालपुर में तूफानी हवाएं 140 से 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पहुंच रही है, इसकी गति 165 किमी प्रति घंटे तक होने का अनुमान है।

​हवा की तेज गति के कारण कच्चे घरों, पेड़, बिजली के पोलों को काफी नुकसान पहुंचा है। तेज हवा के कारण बिजली के पोल उखड़ गए हैं। वहीं कुछ इलाकों से सड़क मार्ग का संपर्क टूट गया है। दक्षिण पश्चिम रेलवे ने ‘तितली’ तूफान के वजह से कई ट्रेनों को कैंसिल, डायवर्ट या कुछ देरी के लिए टर्मिनेट कर दिया है। पूर्वी तटीय रेलवे के वालियर मंडल को उत्तरी आंध्र प्रदेश तथा दक्षिणी ओडिशा तट के बीच खुर्दा रोड और विजयानगरम के बीच बुधवार की रात दस बजे से दोनों ओर से ट्रेनों के आवागमन को अगले आदेश तक रोक लगानी पड़ी। आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू इस तूफान का जायजा लेने के लिए गुरुवार सुबह ही अमरावती के गर्वनेंस मॉनीटरिंग सेंटर पहुंच गए थे। तूफान में होने वाले नुकसान से बचने के लिए अलग-अलग जिलों में एनडीआरएफ 18 टीमें तैनात की गई हैं। 11 और 12 तारीख को स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। मौसम विभाग ने कहा कि ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापत्तनम के बीच गुरुवार तड़के भूस्खलन होने की संभावना है।

Share.

About Author

Leave A Reply