अटल की हालत स्थिर, लेकिन अस्पताल में ही रहेंगे भर्ती

0

एम्स ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का मेडिकल बुलेटिन जारी कर बताया कि उनकी हालत स्थिर है। उन्हें एंटीबायोटिक दवाएं दी जा रही है, जिसके अनुकूल परिणाम मिल रहे हैं। सभी महत्वपूर्ण पैरामीटर स्थिर हैं। डॉक्टरों का कहना है कि जब तक संक्रमण नियंत्रित नहीं होता, तब तक उन्हें अस्पताल में ही रहना होगा। यानि अभी वाजपेयी को अस्पताल से डिस्चार्ज नहीं किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने सोमवार 11 जून को बताया कि अटल बिहारी वाजपेयी को यूरिन इन्फेक्शन की वजह से एम्स लाया गया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी कहा- चिंता की कोई बात नहीं है, अटलजी ठीक हैं। 93 साल के वाजपेयी एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया की निगरानी में हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सोमवार दोपहर से नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती हैं। रुटीन चेकअप के लिए अटल बिहारी वाजपेयी को सोमवार को एम्स लाया गया था। यहां पर उनका डायलिसिस हुआ। उनसे मिलने के लिए सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहुंचे। उनके बाद कई बड़े नेता उनसे मिलने पहुंचे। अटल बिहारी के अच्छे स्वास्थय के लिए उनके समर्थकों ने पूजा अर्चना की। कानपुर में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने वाजपेयी के लिए ‘हवन’ आयोजित किया।

सोमवार को अस्पताल में उनसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेता मिलने गए थे। सोमवार रात को जारी हेल्थ बुलेटिन में कहा गया था कि पूर्व पीएम वाजपेयी को किडनी संबंधी शिकायत के बाद एम्स लाया गया था। जिसके बाद जांच में यूरिन इंफेक्शन का पता चला था। उनका इलाज जारी है। सबसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री से राहुल मिलने पहुंचे। उनके बाद भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा भी वाजपेयी से मिलने पहुंचे। उनके बाद पीएम मोदी एम्स पहुंचे। उन्होंने डॉक्टरों से वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।

पीएम मोदी के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी एम्स पहुंचे। उनके बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी एम्स पहुंच गए।अस्पताल के स्वास्थ्य बुलेटिन में एम्स ने कहा है कि वाजपेयी को लोअर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन और किडनी संबंधी दिक्कतों के बाद भर्ती कराया गया था। जांच में उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन निकला है। बुलेटिन में कहा गया कि वाजपेयी का उचित इलाज किया जा रहा है और उन्हें डॉक्टरों की एक टीम की निगरानी में रखा गया है।

बता दें कि तबीयत खराब होने के चलते सोमवार सुबह अटल बिहारी वाजपेयी को ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) में भर्ती कराया। तब यही खबर आई कि उनको रेगुलर रूटीन चेकअप के लिए भर्ती कराया गया है लेकिन शाम होते-होते ये ख़बर आई कि उनकी तबीयत स्थिर है, लेकिन सोमवार की रात उनको अस्पताल में ही रखा जाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply