राष्ट्रपति चुनाव को लेकर शिवसेना ने मोहन भागवत का समर्थन किया।

0

मुंबई। इन दिनों राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विभिन्न दलों द्वारा अपनी तैयारियां की जा रही हैं। प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए एनडीए में भी सुगबुगाहट का दौर है। तो दूसरी ओर देश के कई राज्य किसान आंदोलन से सुलग रहे हैं। कर्ज माफी को लेकर किसान दो दो हाथ करने में लगे हैं। देश की किसान समस्या को लेकर शिवसेना का कहना था कि यदि किसान की परेशानी हल नहीं होती है तो फिर सरकार में जिम्मेदारों को इस्तीफा दे देना चाहिए। ऐसे में शिवसेना ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर महत्वपूर्ण बयान दिया। इस दौरान शिवसेना ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए में विभिन्न पार्टियां अपना अलग रूख रख सकती है। शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में शिवसेना का रवैया कुछ अलग हो सकता है। उनका कहना था कि आरएसएस के सरसंघ चालक मोहन भागव के अलावा कोई और शानदार विकल्प हमारे पास नहीं है। हम भागवत के नाम का समर्थन राष्ट्रपति चुनाव के लिए ही करते रहेंगे। राष्ट्रपति चुनाव की कंडिशन्स के अनुसार शिव सेना के पास 18 सांसद व 63 विधायकों का महत्वपूर्ण समर्थन है। वर्ष 2012 में राष्ट्रपति चुनाव में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के उम्मीदवार और मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को समर्थन दिया था। वर्ष 2007 में भी यूपीए की कैंडिडेट प्रतिभा पाटिल के पक्ष में वोटिंग की थी। शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भेंट की थी। उन्हें भाई की तरह बताया था।

Share.

About Author

Comments are closed.