यूपी नगरीय निकाय चुनाव में बीजेपी की जबरदस्त बढ़त बरकरार |

0

उत्तर प्रदेश नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना में सत्तारूढ़ भाजपा लगातार बढ़त बनाये हुए है। महापौर पद की मतगणना में भाजपा 16 में से 14 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है, जबकि बसपा दो सीटों पर आगे है। इसके अलावा नगर पालिकाओं के चुनाव की मतगणना के रुझानों में भी भाजपा की बढ़त बनी हुई है। वर्ष 2012 के नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा ने 12 में से 10 महापौर की सीटें जीती थीं। इस बार अयोध्या, फिरोजाबाद, मथुरा तथा बुलंदशहर पहली बार नगर निगम के तौर पर चुनाव प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। बहरहाल, सभी परिणाम आज शाम तक आ जाने की सम्भावना है। चूंकि नगर निगमों के चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से हुए थे, लिहाजा वहां नतीजे जल्दी आने की उम्मीद है। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने रुझानों में भाजपा की बढ़त के बारे में कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस वैसे तो अलग लड़ रहे थे, लेकिन दरअसल वे एक-दूसरे के निकट रिश्तेदार बनकर लड़े। सपा और कांग्रेस ‘यूपी के लड़के’ कहकर टायर-ट्यूब की तरह चुनाव लड़े थे, मगर वे पंक्चर हो गये। निकाय चुनावों के सम्भावित परिणाम हमारे लिये दायित्व बोध है। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में नहीं बल्कि गड़बड़ी तो विपक्षी दलों की सोच में है। इन दलों ने जाति विशेष के लिये काम किया। उसे जनता ने नकारा है। हमारी सरकार ने सबका साथ, सबका विकास की नीति के तहत काम किया, जिसे जनता ने समर्थन दिया है। सपा के विधान परिषद सदस्य राजपाल कश्यप ने कहा कि यह बड़ी दुखद बात है कि जहां ईवीएम से वोट पड़े, वहां भाजपा को काफी बढ़त है। यह हमारे लिये चिंता की बात है। हम इस पर बारीकी से नजर रख रहे हैं। मालूम हो कि प्रदेश के 16 नगर निगमों, 198 नगर पालिकाओं और 438 नगर पंचायतों के लिये तीन चरणों में गत 22, 26 और 29 नवम्बर को कुल करीब 52.5 प्रतिशत मतदान हुआ था। सम्पूर्ण 652 निकायों की गणना के लिए प्रदेश में 334 मतगणना स्थल स्थापित किए गए हैं जिनमें कुल 11,200 टेबल मतगणना के लिए लगायी गयी हैं। मतगणना में कुल 56,000 कार्मिक नियुक्त किए गए हैं। मतगणना की निगरानी के लिए मतगणना स्थल पर सी.सी.टी.वी. कैमरे तथा वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। पहली बार नगरीय निकाय चुनाव में सभी पार्टियों ने अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ा है। इन चुनावों को वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले जनता का मन टटोलने के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मतगणना के दौरान शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए समस्त जिलों में आज रात 12 बजे तक पूर्ण शराब बन्दी रहेगी। मतगणना के दौरान तथा निर्वाचन परिणाम घोषित होने के बाद किसी भी प्रकार के विजय जुलूस पर पूर्ण प्रतिबन्ध रहेगा।

Share.

About Author

Leave A Reply