मध्य प्रदेश में तेज बारिश से जीवन अस्त व्यस्त

0

badhमध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से हो रही तेज बारिश से कई जिलों का बुरा हाल है. सबसे ज्यादा असर सतना जिले में हुआ है. लोगों के घरों में कंधे तक पानी घुस आया है. यहां सेना और एसडीआरएफ की टीमें लोगों को सुरक्षित जगह पहुचाने में जुटी हैं. दिल्ली से करीब साढ़े सात सौ किमी दूर मध्यप्रदेश के सतना में पिछले 48 घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण जिले का बुरा हाल है.

सेना के जवानों और एसडीआरएफ ने संभाला मोर्चा, अगले कुछ घंटों में भारी बारिश की संभावना

बाढ़ से लोगों के घरों में पानी घुस आया है. सैकड़ों लोग अब भी बाढ़ में फंसे हैं. यहां हुई भारी बारिश ने अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. हालात खराब होता देख सेना के जवानों और एसडीआरएफ को मोर्चा संभालना पड़ा. सतना और उसके आसपास के इलाकों में अगले कुछ घंटों में भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है.

भारी बारिश के कारण प्रदेश के कई जिलों का लगभग कुछ ऐसा ही हाल है. मंडला जिले में भारी बारिश से आई बाढ़ में कई लोगों के बहने की खबर है जिनकी तलाश की जा रही है. पन्ना जिले में भी हालात हद से ज्यादा खराब हैं. यहां बाढ़ में बहने से डेढ़ साल की एक बच्ची की मौत हो गई. जबकि कई लोग अब भी ला पता हैं.

मध्य प्रदेश के रीवा, रायसेन, टीकमगढ़, कटनी,सियोनी और नरसिंहपुर में भी बारिश ने भारी तबाही मचाई है. इन सभी जिलों में 9 जुलाई तक स्कूलों की छुट्टी कर दी गई हैं. प्रदेश की कई नादियां नर्मदा, पार्वती, चंबल, केन, तवा, तमस और सुनार उफान पर हैं. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद हालात पर नजर बना हुए हैं

Share.

About Author

Comments are closed.