EPFO सदस्य अब नौकरी जाने के 30 दिन बाद भी निकाल सकते हैं 75% तक राशि

0

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के सदस्य के पास अब एक महीने तक बेरोजगार रहने की स्थिति में 75% तक राशि निकालने का विकल्प होगा। इस तरह वो अपने खाते को भी बरकरार रख सकता है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने आज ईपीएफओ के ट्रस्टीज की बैठक के बाद ये जानकारी दी।

बता दें, संतोष गंगवार ईपीएफओ के ट्रस्टीज के केंद्रीय बोर्ड के चेयरमैन भी हैं। गंगवार ने कहा कि हमने इस योजना में संशोधन का फैसला किया है। इसके तहत एक महीने तक बेरोजगार रहने की स्थिति में ईपीएफओ का कोई भी सदस्य 75% तक राशि को अग्रिम तौर पर निकाल सकता है और अपने खाते को बनाए रख सकता है।

ईपीएफओ योजना 1952 के नए प्रावधान के तहत दो महीने तक बेरोजगार रहने की स्थिति में उपयोक्ता अपनी बची हुई 25% राशि की भी निकासी कर खाते को बंद कर सकता है। मौजूदा समय में कोई भी उपयोक्ता दो महीने तक बेरोजगार रहने के बाद ही इस राशि की निकासी कर सकता है।

श्रम मंत्री ने ये भी कहा कि ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेट फंड) में ईपीएफओ का निवेश 47,431.24 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है और जल्दी ही यह एक लाख करोड़ तक पहुंच जाएगा। इस निवेश पर रिटर्न 16.07 प्रतिशत है।

Share.

About Author

Leave A Reply