शेयर बाजार खुलते ही हाहाकार, सेंसेक्स 1000 और निफ्टी में 300 अंक गिरा

0

डॉलर के मुकाबले रुपये की घटती कीमत और पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के बीच भारतीय शेयर बाजार में उथल-पुथल का दौर लगातार जारी है। आज बाजार के खुलते ही हाहाकार मच गया। बाजार के खुलने के साथ ही सेंसेक्स में 1000 और निफ्टी में 300 अंकों की भारी गिरवाट दर्ज की गई। सेंसेक्स 697.07 अंक यानी 2.01% टूटकर 34,063.82 पर जबकि निफ्टी 290.3 अंक गिरकर 10,169.80 पर खुला। बाजार में मायूसी का आलम यह है कि कारोबार शुरू होने के कुछ मिनटों में ही सेंसेक्स 1000 अंक से ज्यादा गिर गया। 9:22 बजे पर सेंसेक्स 1001.31 अंक 2.88% गिरकर 33,759.58 पर पहुंच गया। उधर, गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया भी 74.47 के रेकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया है।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली दिख रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 3.3 फीसदी गिरा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 3.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 3 फीसदी लुढ़का है। इससे पहले बुधवार को अमेरिकी बाजारों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। एसएंडपी 500 इंडेक्स और डाओ जोंस इंडेक्स में 8 फरवरी 2018 के बाद सबसे बड़ी गिरावट आई। बाजारों पर ब्याज दरों में तेज उछाल का दबाव है। 10 साल की बॉन्ड यील्ड ने 7 साल की नई ऊंचाई छुई है। यूएस ट्रेजरी यील्ड्स में बढ़ोतरी से निवेशक रिस्की एसेट्स से दूर हो रहे हैं। टेक शेयरों की जोरदार पिटाई से अमेरिकी बाजारों में तेज गिरावट देखने को मिली है। टेक्नोलॉजी सेक्टर के लिए 7 साल का सबसे खराब दिन रहा।

बुधवार के कारोबार में डाओ जोंस 832 अंक यानी 3.15 फीसदी गिरकर 25,599 के स्तर पर बंद हुआ। यह डाओ जोंस में 8 महीने की सबसे बड़ी गिरावट है। नैस्डैक 316 अंक यानि 4.1 फीसदी गिरकर 7,422 के स्तर पर बंद हुआ है। एसएंडपी 500 इंडेक्स 95 अंक यानि 3.3 फीसदी की कमजोरी के साथ 2,785.7 के स्तर पर बंद हुआ है।

Share.

About Author

Leave A Reply