प्रद्युम्न के हत्यारा छात्र ने बदला अपना बयान, पिता ने कहा मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है ।

0

प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर मामले में हर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। प्रद्युम्न हत्या मामले में सीबीआई द्वारा हिरासत में लिया गया रायन इंटरनैशनल स्कूल का छात्र लगातार अपने बयान भी बदल रहा है। दो दिन पहले जूवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने कहा था कि आरोपी 11वीं के छात्र ने प्रद्युम्न की हत्या की बात कबूल कर ली है। बोर्ड ने यह भी बताया कि छात्र ने कैसे उसकी हत्या की। बाद में आरोपी छात्र अपने बयान से पलटता नजर आया और उसने चाइल्ड प्रोटेक्शन अधिकारी (सीपीओ) को बताया कि उसे जान बूझकर इसमें फंसाया जा रहा है और उसने किसी की हत्या नहीं की है।
आरोपी के पिता ने सीबीआई पर उसके बेटे को फंसाने का आरोप लगाया। पिता ने कहा कि उनके बेटे को अपराध स्वीकार करने के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है, जो उसने किया ही नहीं है। उन्होंने कहा कि सीबीआई अधिकारी अपराध स्वीकार नहीं करने पर उनके पूरे परिवार को गोली मारने की धमकी दे रही थी। उन्होंने कहा कि सीबीआई की इस धमकी के बाद उनके बेटे ने अपराध स्वीकार कर लिया।

उधर, कहा जा रहा है कि आरोपी छात्र ने सीपीओ के सामने सोमवार को प्रद्युम्न की हत्या नहीं करने की बात कही है। सीपीओ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया, ‘छात्र शांत दिख रहा था। मैंने उससे कहा कि मैं सीपीओ हूं। कृपया बिना किसी भय के मुझे सारी बात बताओ। तब छात्र ने कहा कि उनसे किसी की हत्या नहीं की है। उसे फंसाया जा रहा है।’ 8 नवंबर को छात्र को हिरासत में लिए जाने के समय सीबीआई ने कहा था कि छात्र ने अपने पिता और जांचकर्ताओं के सामने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। सीपीओ ने बताया कि आरोपी छात्र ने कहा कि उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वह डर गया था। सीपीओ ने कहा, ‘जांचकर्ताओं ने उसे मारा-पीटा और प्रताड़ित किया था। सीबीआई ने पूछताछ के दौरान जूवेनाइल जस्टिस बोर्ड के किसी सदस्य को वहां मौजूद नहीं रहने दिया था। मुझे नहीं पता कि क्या यही प्रक्रिया है।’

लेकिन सीबीआई ने प्रवक्ता ने प्रताड़ना के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है। प्रवक्ता ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा, ‘सीबीआई इस तरह के हथकंडे किसी पर इस्तेमाल नहीं करती है। आरोपी छात्र ने अपने पिता और वेलफेयर अधिकारी के सामने अपना अपराध कबूल किया था।’

गत शनिवार को जूवेनाइल जस्टिस बोर्ड के एक सदस्य ने कहा था कि 11वीं क्लास में पढ़ने वाले आरोपी छात्र ने पूछताछ में बताया था कि वह प्रद्युम्न को जानता था और दोनों एकसाथ पियानो क्लास अटेंड करते थे। इसी जान पहचान के कारण ही वह 8 सितंबर को प्रद्युम्न को वॉशरूम ले गया था। सीबीआई ने दावा किया था कि आरोपी छात्र ने पीटीएम और परीक्षा रुकवाने के लिए प्रद्युम्न की हत्या की थी।

Share.

About Author

Leave A Reply