बिहार में एक और RTI कार्यकर्ता की हत्या, कई मामलों का कर चुके खुलासा

0

बिहार के मोतिहारी में आरटीआई कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इससे पहले भी आरटीआई कार्यकर्ताओं की हत्या का मामला सामने आ चुका है। 6 माह में RTI कार्यकर्ता की यह तीसरी हत्या है। इससे पहले वैशाली और सहरसा में आरटीआई कार्यकार्ता की हत्या की जा चुकी है।

जानकारी के अनुसार, मंगलवार की दोपहर राजेंद्र सिंह जब अपने घर लौट रहे थे, तभी रास्ते में उन पर बाइक सवार दो लोगों ने गोली चला दी। सिंह नागरिक अधिकार मंच के साथ जुड़े थे। उन्होंने पुलिस, प्रशासन और मनरेगा से जुड़े भ्रष्टाचार के कई मामलों का खुलासा किया था।

नागरिक अधिकार मंच के शिवप्रकाश राय ने बताया कि राजेन्द्र सिंह की हत्या आरटीआई कार्यकर्ता होने की वजह से उनकी हत्या की गई। उन्होंने बताया कि राजेंद्र पर झूठा केस कराने के मामले में कोर्ट ने संज्ञान लिया था और संग्रामपुर के तत्कालीन थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। शिवप्रकाश राय ने बताया कि 12 जून को उनकी राजेंद्र सिंह से मुलाकात हुई थी, तब उन्होंने अपनी हत्या की आशंका जाहिर की थी। इससे पहले भी तीन बार उन पर जानलेवा हमला हो चुका था।

उधर, मोतिहारी के एसपी उपेन्द्र शर्मा का कहना है कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामला परिवारिक रंजिश का भी लगता है क्योंकि उनकी पत्नी ने पुलिस को दी गई शिकायत में संपत्ति विवाद का भी उल्लेख किया है। पुलिस हर एंगल से इस मामले की जांच कर रही है।

Share.

About Author

Leave A Reply