पंजाब में आम आदमी पार्टी के निलंबित नेताओं ने बनाया पंजाब डेमोक्रेटिक अलायंस

0

आम आदमी पार्टी (आप) के बागी गुट, लोक इंसाफ पार्टी (लोइंपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और पटियाला के सांसद धर्मवीर गांधी ने आज मिलकर पंजाब डेमोक्रेटिक अलायंस बनाने की घोषणा की। इंसाफ मार्च के समापन के अवसर पर यह घोषणा की गई। इस अवसर पर आप के बागी नेता सुखपाल सिंह खैहरा ने कहा कि गठजोड़ का उद्देश्य पंजाब को ‘भ्रष्ट‘ पारंपारिक पार्टियों और बादल तथा कैप्टन के ‘सामंती‘ परिवारों की जकड़ से मुक्त करना है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इन पार्टियों ने पंजाब को बर्बाद कर दिया है और आज पंजाब पर ढाई लाख करोड़ का कर्ज है जबकि किसान और मजदूर आत्महत्या कर रहे हैं, लाखों बेरोजगार युवा नशे की गिरफ्त में फंस चुके हैं। नाउम्मीदी, हताशा के कारण देश छोड़ रहे हैं।

खैहरा ने धार्मिक बेअदबी और बेहबल कलां पुलिस फायरिंग के शिकारों के लिए इंसाफ की मांग भी करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने यदि इस प्रकरण में इंसाफ नहीं दिलाया तो जनवरी में माघी के अवसर पर पीडीए अपनी कार्यनीति की घोषणा करेगा।

धर्मवीर गांधी ने इस अवसर पर केंद्र पर केंद्रीकरण के जरिये पंजाब समेत राज्यों के अधिकारों का अतिक्रमकण करने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के बाद राज्यों की हैसियत नगर निगमों जैसी हो गई है।

सिमरन जीत बैंस ने कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार पर लघु एवं मध्यम उद्योग एवं उनके कर्मचारियों की समस्याएं सुलझाने में ‘विफल‘ रहने का आरोप लगाया। बसपा के प्रदेशाध्यक्ष रशपाल राजू ने आरोप लगाया कि कमजोर वर्ग और दलितों का कथित कल्याणकारी योजनाओं के नाम पर शोषण किया जा रहा है तथा शिक्षा, स्वास्थ्य, सस्ते आवास तथा रोजगार जैसी बुनियादी जरूरतों से उन्हें वंचित किया जा रहा है।

Share.

About Author

Leave A Reply