जेल में बंद कैदी ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को दी हत्या की धमकी

0

पंजाब की फरीदकोट जेल में बंद एक कैदी ने सोमवार को जेल से तीन मिनट का एक लाइव विडियो अपलोड किया है, जिसमें उसने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को जान से मारने की धमकी दी है। विडियो में गोबिंद सिंह नाम का कैदी यह कहता हुआ दिख रहा है कि अकाल पुरख (सर्वशक्तिमान ईश्वर) ने उसे यह काम करने को कहा है। यही नहीं, कैदी ने विडियो में यह भी कहा, ‘तुम्हारे उल्टे दिनों की गिनती शुरू हो गई है।’

जेल में बंद कैदी ने विडियो में अमरिंदर सिंह से 15 दिसंबर 2015 को अपनी झूठी प्रतिज्ञा के लिए माफी मांगने को कहा है। गौतलब है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने 15 दिसंबर को पंजाब कांग्रेस के प्रमुख के रूप में शपथ ली थी कि वह महज चार हफ्तों में ड्रग्स के कारोबार पर नकेल कसेंगे, 6 महीने में भ्रष्टाचार पर लगाम लगाएंगे और धार्मिक अपमान के मामलों को जल्द से जल्द सुलझाएंगे।

गोबिंद ने विडियो में अमरिंदर सिंह, स्टेट पुलिस चीफ सुरेश अरोड़ा और जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के खिलाफ अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है। इसके इतर कैदी ने जेल प्रशासन से गुरु ग्रंथ साहिब को सम्मान देते हुए पवित्र पुस्तक के लिए एक बिस्तर का इंतजाम करने को कहा। गोबिंद ने कथित तौर पर जेल में पानी उपलब्ध न होने की शिकायत की। कैदी का कहना है कि युवाओं में नशे की लत पैदा करने के आरोपी नेता हैं और जेल परिसर में भी नशीले पदार्थ उपलब्ध हैं। भटिंडा जिले के मरी भइनी का निवासी गोबिंद दो मामलों (हत्या का एक मामला और हत्या के प्रयास का एक केस) में अंडरट्रायल है और वह अप्रैल से जेल में बंद है। पुलिस ने गोबिंद और उसके सहयोगी कुलदीप सिंह के खिलाफ एक मामला पंजीकृत किया है, जो विडियो रिकॉर्ड कर रहा है।

फरीदकोट के एसएसपी नानक सिंह ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘पुलिसकर्मी जांच में जुटे हुए हैं कि कैसे जेल में बंद गोबिंद सिंह को मोबाइल फोन मिला और उसने ऑनलाइन विडियो अपलोड किया।’ जेल में बंद कैदियों के पास से मोबाइल मिलने के मामलों में जेल मंत्री ने सख्त रुख अपनाया हैं लेकिन कैदी और अंडरट्रायल लोग इंटरनेट के साथ मोबाइल फोन का लगातार इस्तेमाल कर रहे हैं। विडियो में, गोबिंद सिंह ने जेल अधिकारियों को चेतावनी दी है कि गुरु ग्रंथ साहिब का सम्मान करें और पवित्र ग्रंथ के लिए एक बेड का इंतजाम करें।

Share.

About Author

Leave A Reply