किडनैप कर पति को बैंक लेकर पहुंची पत्‍नी, NRI ने विड्रॉल स्लिप पर लिखा, I am kidnapped

0

पंजाब का एनआरआई बीते चार नवंबर के भारत आया। वह नई दिल्‍ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर उतरा, जहां पर उसे रिसीव करने के लिए पत्‍नी कुछ लोगों के साथ आई। एनआरआई को इनोवा कार में बिठाया गया और अगवा कर जालंधर के पास दकोहा गांव में बंधक बना लिया गया। चार दिन तक एनआरआई के साथ मारपीट की गई। इसके बाद एनआरआई ने पत्‍नी रजनी और उसके साथियों को वादा किया कि अगर वे उसे छोड़ देंगे तो वह 15 लाख रुपए देने को तैयार है। पत्‍नी रजनी और उसके साथी मान गए, वे एनआरआई को बैंक लेकर गए, लेकिन यहां एनआरआई ऐसी चालाकी दिखाई कि अपहरण करने वाले सारे लोग पुलिस के चंगुल में फंस गए।

नई दिल्‍ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से जिस एनआरआई का अपहरण किया गया, उनका नाम है प्रितपाल। वह इंग्‍लैंड के नागरिक हैं। पहली पत्‍नी से प्रितपाल का तलाक हो गया था। प्रितपाल दूसरी शादी करके लुधियाना में सेटल होना चाहता था। एक परिचित की मदद से प्रितपाल 40 वर्षीय महिला रजनी के संपर्क में आया, जिनके पहले पति की मौत हो चुकी थी। 4 मार्च 2018 को रजनी और प्रितपाल की शादी हो गई। दूसरी शादी होने के एक महीना बाद प्रितपाल वापस इंग्‍लैंड चला गया।

4 नवंबर को प्रितपाल वापस भारत लौटे। वह इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर उतरे तो देखा, उन्‍हें रिसीव करने के लिए रजनी मौजूद थी, लेकिन वह अकेली नहीं थी। उसके साथ, पवन, बबलू और रजनी की मां भी आए थे। इन लोगों ने प्रितपाल को नई दिल्‍ली से ही किडनैप किया और पंजाब के गांव दकोहा लेकर आ गए। दकोहा में चार दिन बंधक बनाकर प्रितपाल को पीटा गया। इसके बाद एनआरआई ने कहा कि वे उसे छोड़ देंगे तो वह 15 लाख रुपए देगा। रजनी मान गई। इसके बाद रजनी अपनी मां और कुछ साथियों के साथ प्रितपाल को लुधियाना के फव्‍वारा चौक स्थित स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया की ब्रांच ले गए।

एसबीआई की ब्रांच में एनआरआई प्रितपाल ने जब विड्रॉल स्लिप भरी तो उसमें लिखा- ‘आई एम किडनैप्‍ड, कॉल द पुलिस’, मतलब मेरा अपहरण हो गया, पुलिस को बुलाओ। यह संदेश लिखने के बाद एनआरआई ने विदड्रॉल स्लिप कैशियर के हाथ में थमा दी। स्लिप पर लिखा संदेश पढ़ने के बाद कैशियर सीट से उठा और मैनेजर के पास भागा। मैनेजर ने तुरंत पुलिस को खबर कर दी। संदेश मिलते ही पुलिस टीम बैंक की ओर रवाना हो गई।

जानकारी के मुताबिक, प्रितपाल को रजनी पर शादी के बाद ही शक हो गया था। मार्च में जब उसकी शादी रजनी के साथ हुई, तब वह एक महीना लुधियाना में ही रहा था। उस वक्‍त प्रितपाल के बैग में 800 डॉलर रखे थे। कुछ दिन बाद जब प्रितपाल ने बैग चेक किया तो उसमें 500 डॉलर गायब थे। रजनी से जब प्रितपाल ने पूछा तो वह मुकर गई। प्रितपाल उसके इरादे समझ गया था, इसलिए जब 4 नवंबर को वह इंडिया आया तो उसने रजनी को खबर नहीं की थी, लेकिन उसे कहीं से पता चला गया कि प्रितपाल इंडिया आने वाला है और उसने किडनैपिंग का पूरा प्‍लान तैयार कर लिया।

Share.

About Author

Leave A Reply