सुनंदा पुष्कर मौत मामले में शशि थरूर को मिली अग्रिम जमानत, सुब्रमण्यम स्वामी ने कसा तंज

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सुनंदा पुष्कर मौत मामले में अग्रिम जमानत दे दी है। थरूर के विदेश भाग जाने की संभावना जताते हुए दिल्ली पुलिस ने अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया था। जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें बिना इजाजत के देश छोड़कर जाने से मना कर दिया है।

पटियाला हाउस कोर्ट में विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष शशि थरूर की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई हुई। जमानत के लिए शशि थरूर कोर्ट में मौजूद थे। याचिका में थरूर ने कहा कि मामले में आरोपपत्र दाखिल कर दिया गया है और एसआईटी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि जांच पूरी हो गई है और उन्हे हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत नहीं है। इस पर कोर्ट ने शशि थरूर को एक लाख रुपये के मुचलके पर जमानत दी है।

इस मामले में शशि थरूर की पैरवी कर रहे वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट में कहा था कि शशि थरूर पुलिस जांच में सहयोग करेंगे। पुलिस जब भी बुलाएगी वो आ जाएंगे। वो सम्मानित नेता और सांसद हैं लिहाजा, उनको अग्रिम जमानत दी जाए। वहीं, दिल्ली पुलिस ने अग्रिम जमानत अर्जी का विरोध करते हुए कहा था कि उन्हें इस मामले में शशि थरूर के कस्टोडियल इंटेरोगेशन की जरूरत है, इसलिए जमानत न दी जाए।

इस पर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा, ‘आपको इस वक्त शशि थरूर की कस्टडी की जरूरत क्यों है, जबकि आप चार्जशीट भी दाखिल कर चुके हैं।’ दिल्ली पुलिस चार्जशीट दाख़िल करके सुनंदा पुष्कर केस में उनके पति शशि थरूर को इकलौता आरोपी बनाया है।

वहीं, शशि थरूर की अग्रिम जमानत पर भाजपा के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने तंज कसा। स्वामी ने कहा,’शशि थरूर के लिए इसमें (अग्रिम जमानत) खुशी मनाने के लिए कुछ नहीं है। वे तिहाड़ जेल में नहीं हैं। वे सोनिया और राहुल गांधी के साथ बैठ सकते हैं। वो भी बेल वाले हैं। हां वह देश छोड़कर नहीं जा सकते और दुनिया के विभिन्न देशों में मौजूद अपनी गर्लफ्रेंड्स से नहीं मिल सकते हैं।’

दरअसल, स्वामी का इशारा नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर बाहर चल रहे सोनिया और राहुल की तरफ है क्योंकि, नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया और राहुल गांधी जमानत पर हैं। जिसमें याचिकाकर्ता सुब्रमण्यम स्वामी ने जमानत देने का विरोध किया था और कहा था कि दोनों देश छोड़कर भाग सकते हैं।

बता दें, 17 जनवरी 2014 की रात दिल्ली के लीला होटल के कमरा नंबर 345 में सुनंदा पुष्कर संदिग्ध हालात में मृत मिली थीं। दिल्ली पुलिस ने जांच शुरू की और एक साल बाद मर्डर केस दर्ज किया था। एम्स की विसरा रिपोर्ट के मुताबिक, सुनंदा की बॉडी में किसी तरह का जहर नहीं मिला था। पुलिस थरूर से भी लंबी पूछताछ कर चुकी है।

Share.

About Author

Leave A Reply