झारखंड: जहरीली शराब ने ली 5 की जान, क्या आप जानते हैं कैसे बनती है ये ?

0

झारखंड के सिमडेगा जिले में जहरीली शराब ने 5 लोगों की जान ले ली। इसके अलावा 8 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। मृतकों में दो पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं। छह लोग सदर अस्पताल में भर्ती हैं। दो लोगों को इलाज के लिए राउरकेला रेफर किया गया है। यह घटना ठेठईटांगर थानाक्षेत्र के केरया इलाके की है। इससे पहले भी जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत की ख़बरें आमने आ चुकी है। क्या आपको पता है कि जहरीली शराब कैसे बनाई जाती है।

कच्ची शराब को अधिक नशीली बनाने के चक्कर में जहरीली हो जाती है। सामान्यत: इसे बनाने में गुड़, शीरा से लहन तैयार किया जाता है। लहन को मिट्टी में गाड़ दिया जाता है। इसमें यूरिया और बेसरमबेल की पत्ती डाला जाता है। अधिक नशीली बनाने के लिए इसमें ऑक्सिटोसिन मिला दिया जाता है। यहीं मौत का कारण बनती है।

कुछ जगहों पर कच्ची शराब बनाने के लिए पांच किलो गुड़ में 100 ग्राम ईस्ट और यूरिया मिलाकर इसे मिट्टी में गाड़ दिया जाता है। लहन उठने पर इसे भट्टी पर चढ़ा दिया जाता है। गर्म होने के बाद जब भाप उठती है, तो उससे शराब उतारी जाती है। इसके अलावा सड़े संतरे, उसके छिलके और सड़े गले अंगूर से भी लहन तैयार किया जाता है।

कच्ची शराब में यूरिया और ऑक्सिटोसिन जैसे केमिल पदार्थ मिलाने की वजह से मिथाइल एल्कोल्हल बन जाता है। इसकी वजह से ही लोगों की मौत हो जाती है। मिथाइल शरीर में जाते ही केमि‍कल रि‍एक्‍शन तेज होता है। इससे शरीर के अंदरूनी अंग काम करना बंद कर देते हैं। इसकी वजह से कई बार तुरंत मौत हो जाती है। कुछ लोगों में यह प्रक्रिया धीरे-धीरे होती है।

Share.

About Author

Leave A Reply