जम्मू-कश्मीर में एक ओर औरंगजेब की किडनैपिंग के बाद निर्मम हत्या, हिज्बुल ने ली जिम्मेदारी

0

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर से आतंकियों ने कायरता के साथ पुलिसकर्मी को अगवा कर उसकी हत्या कर दी। इससे पहले आतंकियों ने सेना के जवान औरंगजेब की हत्या कर दी थी। पूरे देश का गुस्सा अभी शांत भी नहीं हुआ था कि आतंकियों ने एक बार फिर से दूसरे जवान को अगवा कर हत्या कर दी।

आतंकियों ने गुरुवार शाम को शोपियां से पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार को अगवा किया था। इसके बाद उनका शव कुलगाम से मिला। हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने उनकी हत्या की जिम्मेदारी ली है। जानकारी के अनुसार, जावेद अपनी मां की दवाई लेने के लिए मेडिकल पर जा रहे थे। वहां एक कार में तीन से चार हथियारबंद आतंकवादियों ने हवा में फायरिंग की और बंदूक की नोंक पर जावेद को अपने साथ कार में बिठाकर ले गए। इसके बाद उनकी हत्या कर दी गई।

जावेद पिछले पांच साल से एसएसपी शैलेंद्र कुमार के साथ ऑपरेटर के तौर पर तैनात थे। वह पुलिस को बताकर गए थे कि वो अपनी मां को दवाई देने जा रहे हैं। उन्होंने कहा था कि उनकी मां को दवाइयों की जरूरत है, वो हज के लिए जाने वाली हैं। जाहिर है कि कुछ दिन पहले ही आतंकियों ने कायरता के साथ सेना के जवान औरंगजेब को अगवा कर हत्या कर दी थी। वह ईद की छुट्टियों पर घर जा रहे थे। वहीं रास्ते में आतंकियों ने उन्हें अगवा कर लिया था। 14 जून की शाम को उनका गोलियों से छलनी शव पुलवामा जिले के गुस्सु गांव में बरामद हुआ था।

Share.

About Author

Leave A Reply