गुजरात के विख्यात गांधीवादी शिल्पकार ने 60 करोड़ की पूंजी दान की

0

गुजरात के विख्यात गांधीवादी शिल्पकार और पद्मश्री कांतिभाई बी. पटेल ने शिल्पकला के विकास के उद्देश्य से अपनी संपत्ति ललित कला अकादमी-दिल्ली को दान कर दी है। अकादमी के अध्यक्ष उत्तम जी पाचारणे ने 10 अक्टूबर को अहमदाबाद पहुंच कर दानदाता से मुलाकात की थी। संस्थान को दी गई भेंट का विधिवत स्वीकार कर लिया।

ललित कला अकादमी दिल्ली के अध्यक्ष उत्तम जी पाचारणे ने कहा कि- एक तपस्वी शिल्पकार ने समाज के प्रति, अपने जैसे कलाकारों की आगामी पीढ़ी के लिए अपना सर्वस्व दान कर समाज के लिए अनुकरणीय उदाहरण पेश किया है, यह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि-पश्चिम विभाग के प्रमुख केन्द्र का नाम ‘ शिल्प भवन ललित कला अकादमी केन्द्र-अहमदाबाद’ होगा। यहां नवोदित कलाकारों के लिए कैंप-सेमिनार सरीखी गतिविधियां होंगी। दानदाता पद्मश्री शिल्पकार कांतिभाई पटेल ने -इस स्टूडियो को पश्चिमी भारत के ललित कला प्रेमियों के लिए रीजनल केन्द्र के रूप में विकसित करने का आग्रह किया है।

कांतिभाई पटेल 1967 में अहमदाबाद आकर बसे थे। दान की गई संपत्ति में शिल्पकार कांतिभाई पटेल का अहमदाबाद के घाटलोडिया क्षेत्र स्थित स्थित ‘शिल्प भवन’ नामक स्टूडियो और ये जहां है उस 9270 वर्ग मीटर का भूखंड शामिल है। इस पर चीकू का बगीचा भी है। स्टूडियो-चीकू बगीचा और भूखंड की बाजार कीमत 60 करोड़ रुपए बताई जा रही है। हालांकि इसे बेचना नहीं था, इसलिए दानदाता ने इसका वैल्यूएशन नहीं करवाया।

Share.

About Author

Leave A Reply