पुलिस के लिए पहेली बन गई डीएम मुकेश पांडे की आत्महत्या।

0

बिहार के बक्सर जिले के डीएम मुकेश पांडे ने गुरुवार रात यूपी के गाजियाबाद में ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। लेकिन उनकी आत्महत्या पुलिस के लिए पहेली बन गई है। क्योंकि उनके पास से कई सुसाइड नोट्स मिले हैं और एक से ज्यादा जगहों पर जाकर आत्महत्या करने की बात कही है।
लीला पैलेस होटल से मिले सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि, ‘मैं अपनी पत्नी और अपने मां-बाप के बीच हो रहे झगड़े से बेहद परेशान हूं, इस वजह से यह कदम उठा रहा हूं’। वहीं, गुरुवार को मुकेश के ससुर ने सरोजिनी नगर पुलिस स्टेशन में उनके लापता होने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।
मुकेश के पास से एक अन्य सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उन्होंने अपनी मर्जी से खुदकुशी करने की बात लिखी है। पुलिस सूत्रों की मानें तो सुसाइड नोट में चार फोन नंबर भी लिखे हुए हैं। यह सभी नंबर परिवार वालों के हैं। सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है कि विस्तृत सुसाइड नोट बैग में है।
सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा है कि, मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं. मेरी मौत के बाद मेरी अत्महत्या की खबर मेरे रिश्तेदारों को दे दी जाए।
पुलिस के मुताबिक, सबसे पहले वो शाम 6 बजे दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंटर खुदकुशी करने पहुंचे।यहां पर उन्होंने परिजनों को व्हाट्सएप करके खुदकुशी करने की जानकारी दी। इसके बाद आनन-फानन में पुलिस वहां पहुंची तो मुकेश पांडे अपना फोन होटल में छोड़कर गायब हो गए थे।
मुकेश पांडे बुधवार की देर रात बक्सर से दिल्ली के लिए निकले थे। सूत्रों की मानें तो दिल्ली आने के पीछे उन्होंने वजह बताई थी कि उनके मामा को हार्ट अटैक आया है। दिल्ली पहुंचने के लगभग 14 घंटे बाद मुकेश पांडे ने ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली।
बीते 4 अगस्त को ही उन्हें बक्सर का डीएम नियुक्त किया गया था। बक्सर से पहले मुकेश बेगूसराय के बलिया अनुमंडल में एसडीएम व कटिहार में डीडीसी के पद पर सेवा दे चुके थे। 2012 की यूपीएससी परीक्षा में 14वीं रैंक लाने वाले मुकेश पांडे को साल 2015 में संयुक्त सचिव रैंक में प्रमोशन मिला था।
रेलवे पुलिस ने मुकेश पांडे की मौत की पुष्टि की है। रेलवे पुलिस के डिप्टी एसपी (गाज़ियाबाद) रणधीर सिंह ने बताया कि, “मुकेश पांडे का शव कटी हुई अवस्था में रेलवे ट्रैक पर मिला है।”मुकेश पांडे का शव ग़ाज़ियाबाद स्टेशन से क़रीब एक किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर मिला है।
मौके पर मौजूद गाज़ियाबाद की डीएम मिनिस्टी नायर ने बताया, “हमें एक सुसाइड नोट भी मिला है जो अंग्रेज़ी में है और जिसमें ‘जीवन की बिडंबनाओं’ की बात की गई है।”
मुकेश पांडेय की शादी दो साल पूर्व पटना के एक बड़े घराने में हुई थी। बाढ़ के रहने वाले जाने-माने ठेकेदार की पोती से उनकी शादी हुई थी। उनकी एक बेटी भी है।

Share.

About Author

Comments are closed.