अब प्ले स्टोर पर राष्ट्रीय उजाला

नजीब जंग के इस्तीफे से राजनीतिक गलियारों में लोगों को चौकाया

0

दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग ने चौंकाने वाला कदम उठाते हुए अचानक अपने पद से इस्तीफा दे दिया जिसके साथ ही उनके करीब साढ़े तीन साल के उस कार्यकाल का पटाक्षेप हो गया जिसमें आप सरकार के साथ अधिकांश मौकों पर उनके टकराव हुए। उनके इस्तीफे के बाद ऐसी अटकलों को बल मिला है कि उनसे पद छोड़ने के लिए कहा गया था।
जंग का अचानक इस्तीफा देना राजनीतिक गलियारों में लोगों को चौंका गया क्योंकि कुछ दिनों पहले ही उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र लिखा था कि वह क्रिसमस के दौरान छुट्टी पर गोवा जा रहे हैं तथा उनका केंद्रीय गृह सचिव राजीव महषर्ि के साथ मिलने का कार्यक्रम है।
आप सरकार और जंग के बीच टकराव कई बार न्यायपालिका के दरवाजे तक पहुंचा और ऐसे में इस अटकल को बल मिला कि उनके इस्तीफे का संबंध दिल्ली में निर्वाचित सरकार की शक्तियों को लेकर अगले महीने आने वाले उच्चतम न्यायालय के संभावित फैसले से जुड़ा हो सकता है।
जंग ने कई बार केजरीवाल सरकार के फैसले को पलट दिया और उच्चतम न्यायालय ने हाल ही में टिप्पणी की थी कि निर्वाचित सरकार के पास कुछ शक्तियां होनी चाहिए।
केंद्र की ओर से उनको पद छोड़ने के लिए कहे जाने और कुछ ऐसे शर्मिंदगी भरे खुलासे के अंदेश जैसी अटकलें भी हैं जिनसे उनको इस्तीफा देना पड़ जाता। हालांकि उनके सहयोगी अजय चौधरी ने कहा कि जंग का फैसला पूरी तरह निजी है।
जंग के कार्यालय ने एक बयान में कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार को इस्तीफा सौंप दिया है। उन्होंने मदद और सहयोग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और साथ काम करने को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का धन्यवाद किया। 65 वर्षीय जंग ने अपने इस्तीफे की वजह नहीं बताई।
पूर्व आईएएस अधिकारी नजीब जंग ने जुलाई, 2013 में उप राज्यपाल का पदभार संभाला था।
उप राज्यपाल के कार्यालय ने एक बयान में कहा है कि उप राज्यपाल नजीब जंग ने भारत सरकार को इस्तीफा सौंप दिया है और वह ‘अपने पहले प्यार’ शिक्षण की तरफ लौटेंगे।
इस बीच, जंग की ओर से गृह सचिव महषर्ि को लिख गया पत्र सामने आया है जिसमें उन्होंने जानकारी दी है कि वह 25 दिसंबर से एक जनवरी तक के लिए निजी दौरे पर गोवा जा रहे हैं।

Share.

About Author

Comments are closed.