नई पीढ़ी के वाहनों के लिए टाटा मोटर्स का फॉक्सवैगन से करार

0

नई दिल्ली : आधुनिक और नई पीढ़ी के वाहनों को बाजार में लाने के उद्देश्य से टाटा मोटर्स ने फॉक्सवैगन समूह और स्कोडा से हाथ मिलाया है। इस करार के तहत नए वाहनों को विकसित करने के लिए टाटा मोटर्स इन दोनों कंपनियों के साथ मिलकर काम करेगी। इस साझेदारी के बाद पहला उत्पाद 2019 में बाजार में आने की उम्मीद है।
माना जा रहा है कि इस समझौते के जरिये टाटा मोटर्स छोटी और सस्ती कारों की श्रेणी में नई संभावनाएं तलाशना चाहती है। दोनों कंपनियों के बीच हुआ यह रणनीतिक सहयोग आॅटो क्षेत्र में नई प्रौद्योगिकी लाने में मददगार साबित होगा। इस समझौते के आधार पर ही टाटा मोटर्स पहला मॉडल 2019 में बाजार में उतारने की योजना बना रही है। दोनों समूहों के बीच हुए करार पर टाटा मोटर्स की तरफ से सीईओ व एमडी गुंटर बुशेक, फॉक्सवैगन के सीईओ मथायस मुलर और स्कोडा आॅटो के सीईओ बर्नहार्ड मायर ने हस्ताक्षर किये।
बताया जाता है कि समझौते का प्रमुख उद्देश्य कम कीमत और किफायती ईंधन के कारों के मॉडल विकसित करना होगा। बताया जाता है कि आगे चलते हुए तीनों साझीदार भारत में टाटा मोटर्स के जरिये हाईब्रिड वाहन विकसित करने पर भी काम कर सकते हैं। बुशेक का मानना है कि दोनों ही कंपनियां अपनी-अपनी क्षमता का बेहतर इस्तेमाल कर भारत और विदेशी बाजारों के लिए बेहतरीन उत्पाद विकसित कर पाएंगी। समझौते का आधार फ्यूचरेडी की अवधारणा पर तैयार किया गया है। इसके तहत नई प्रौद्योगिकी, ज्यादा बढ़िया प्रदर्शन करने वाले मॉडलों के विकास की दिशा में काम करना शामिल है।
समझौते के तहत एक छत के नीचे आये तीनों साझीदार अगले कुछ महीने में आपसी सहयोग की रूपरेखा तैयार कर लेंगे।
कोटेशन
दोनों समूहों के बीच हुए करार पर टाटा मोटर्स की तरफ से सीईओ व एमडी गुंटर बुशेक, फॉक्सवैगन के सीईओ मथायस मुलर और स्कोडा आॅटो के सीईओ बर्नहार्ड मायर ने हस्ताक्षर किये।

Share.

About Author

Comments are closed.