धोनी का सारा ध्यान आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी पर

0

कोच केशव बनर्जी ने कहा कि तीन महीने में होने वाली चैम्पियंस ट्रॉफी भारत के सबसे सफल क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य का फैसला करेगी. फिलहाल उसका ध्यान चैम्पियंस ट्रॉफी पर है. अगर वह वहां सफल होता है तो मुझे लगता है कि वह विश्व कप 2019 तक खेलेगा. बनर्जी का मानना है कि सफलता के प्रतिशत में गिरावट के बावजूद दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर में से एक धेनी अब भी काफी चतुर हैं. कोच ने कहा, यह नैसर्गिक है कि आयु बढ़ने के साथ आप उसी स्ट्राइक रेट के साथ रन नहीं बना सकते. लेकिन उसकी इच्छा शक्ति और खेल का आकलन करने की क्षमता दो ऐसी चीजे हैं जो उसे विशेष बनाती हैं. चैम्पियन्स ट्रॉफी से पहले खुद को लय में रखने के लिए वह घरेलू एकदिवसीय टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी खेल रहा है. वर्ष 2014 में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहकर सबको हैरान करने वाले धोनी ने जनवरी में भारत की सीमित ओवरों की टीम की कप्तानी भी छोड़ दी थी. इंडियन प्रीमियर लीग 10 के लिए जिस तरह राइजिंग पुणे सुपर जाइंट्स ने धोनी को कप्तानी से हटाया उससे भी बनर्जी नाखुश हैं. मुझे है लगता है की धोनी को अपने परफोर्मेंस को कायम रखने का यह अच्छा मौका रहेगा.

Share.

About Author

Comments are closed.