दिल के दौरे से हुई मौत को यूं सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश

0

आगरा : शहर में सोमवार देर रात शराब की दुकान पर एक शख्स की मौत हो गई। इसके बाद कुछ लोगों ने अल्पसंख्यकों को टारगेट करके तोड़फोड़ की। उन्होंने दुकानें और वाहन जला दिए। मृतक के परिचितों का कहना है कि शव परीक्षण में सामने आया है कि उसकी मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई थी। मृतक के परिचित भी हैरान हैं कि आखिर यह घटना सांप्रदायिक क्यों होती जा रही है। पुलिस अधिकारी और अन्य लोग इसे चुनाव के दूसरे चरण के पहले ध्रुवीकरण की कोशिश के तौर पर देखते हैं। मंगलवार देर रात 30-40 लोगों के ग्रुप ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया और छोटी दुकानों में भी आग लगा दी। उन्होंने पत्थरबाजी भी की। दरअसल उसी रात एक 27 वर्षीय शख्स की शराब की दुकान पर मौत हो गई थी। मृतक की पहचान सोनू जाटव के तौर पर हुई। वह जूते की फैक्ट्री में काम करता था और वहीं अपने परिवार के साथ रहता था। मृतक के पड़ोसी और जूते की फैक्ट्री के मालिक अश्वनी कुमार ने हमारे सहयोगी टाइम्स आॅफ इंडिया को बताया कि उन्होंने ही मामले की जानकारी पुलिस को दी और शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने कहा, हमें नहीं पता कि दक्षिण पंथियों ने आगजनी और तोड़फोड़ क्यों की, जबकि उन्होंने किसी से मदद नहीं मांगी थी। कोटेशन, मृतक की पहचान सोनू जाटव के तौर पर हुई। वह जूते की फैक्ट्री में काम करता था और वहीं अपने परिवार के साथ रहता था।

Share.

About Author

Comments are closed.