मोदी को गले लगाने के पीछे राहुल गांधी के ये चार मकसद?

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बोलते हुए मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया। राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर पीएम मोदी पर आरोप लगाया, जबकि पीएम मोदी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि वो चौकीदार नहीं, भागीदार हैं। राहुल गांधी ने अपने भाषण के दौरान बीजेपी द्वारा किए गए कई वादों को गिनाया और उन्हें जुमला बताते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा। वहीं, राहुल अपना भाषण खत्म करने के बाद पीएम मोदी के पास गए और उनके गले लग गए। हालांकि इसपर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने राहुल गांधी को नसीदत देते हुए कहा कि पीएम के पद की अपनी मर्यादा होती है और ये सदन है, लिहाजा कांग्रेस अध्यक्ष को इसका ध्यान रखना चाहिए था।

वहीं, अगर बात करें राहुल के भाषण की और पीएम मोदी के लिए ‘प्यार’ जताने की तो कांग्रेस की नजर में इसके कई मायने हो सकते हैं।

1. राहुल गांधी ने भाषण के दौरान कहा था कि बीजेपी सरकार कमजोरों को दबाने का काम कर रही है। राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान ‘पप्पू’ शब्द का जिक्र भी किया जिसका इस्तेमाल बीजेपी के नेता अक्सर राहुल का मजाक उड़ाने के लिए करते हैं। दूसरी ओर, पीएम मोदी भी गांधी परिवार पर व्यक्तिगत हमले करते रहे हैं। ऐसा करके राहुल गांधी खुद को कमजोर और बीजेपी सरकार को ताकतवर दिखाने की कोशिश कर रहे थे। पीएम मोदी ने हाल ही में कांगेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि कांग्रेस पार्टी ‘बेल-गाड़ी’ है। पीएम मोदी ने ये हमला सोनिया गांधी और राहुल पर किया था। पी. चिदंबरम भी एयरसेल मैक्सिस केस में आरोपी बनाए गए हैं।

2. राहुल गांधी का ‘आंख मारना’ और गले लगना विदेशी नेताओं के साथ पीएम मोदी के गले लगने के तरीके पर तंज भी कहा जा रहा है। हाल ही में कांग्रेस ने एक ऐसा वीडियो अपने ट्विटर अकांउट से ट्वीट भी किया था।

3. लेकिन सबसे बड़ी बात सामने आयी है वो ये कि राहुल गांधी अपनी छवि को बदलने की कोशिश करते दिखाई दे रहे हैं। राहुल गांधी अपनी शैली में आक्रामकता लाना चाहते हैं। राहुल गांधी ने खुलकर पीएम मोदी पर आरोप लगाए और राफेल डील पर बीजेपी पर चौतरफा घेरने की कोशिश की।

4. राहुल गांधी विचारधारा की लड़ाई में संघ-बीजेपी और कांग्रेस के बीच एक स्पष्ट लकीर खींचने की कोशिश कर रहे हैं। राहुल गांधी और कांग्रेस संघ पर नफरत फैलाने का आरोप लगाते रहे हैं। वो बार-बार कहते हैं कि कांग्रेस सभी से प्यार करती है। हाल की हिंसक घटनाओं पर भी राहुल ने बीजेपी को घेरने में कसर नहीं छोड़ी है। सदन में भी बार-बार उन्होंने कहा कि पीएम मोदी भले नफरत करें, लेकिन उनके दिल में पीएम मोदी के लिए प्यार ही प्यार है। वही, तमाम घटनाक्रमों के बाद आज राहुल गांधी शुरूआती चर्चा में प्रभावित करने में कामयाब होते दिखाई दिए।

Share.

About Author

Leave A Reply