चिदंबरम का बड़ा खुलासा, 2019 के चुनावों में पीएम पद का चेहरा नहीं होंगे राहुल गांधी

0

2019 लोकसभा चुनाव को लेकर पूर्व केंद्रीय वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। चिदंबरम ने कहा है कि कांग्रेस 2019 चुनाव में राहुल गांधी या फिर किसी भी नेता को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश नहीं करेगी। उन्‍होंने कहा कि राहुल ही नहीं कांग्रेस अन्‍य किसी भी व्‍यक्ति की दावेदारी की घोषणा नहीं करेगी। बता दें कि जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आता जा रहा है कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ सभी पार्टियों को एकजुट करने की कोशिश कर रही है। दरअसल महागठबंधन में पीएम का चेहरा बनने को लेकर पेंच फंसा हुआ था। कांग्रेस ने यह घोषणा कर साफ कर दिया कि, उन्हें महागठबंधन में पीएम पद नहीं चाहिए।

न्यूज 18 से बातचीत करते हुए पी. चिदंबरम ने कहा कि, हमने ऐसा कभी नहीं कहा कि राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री होंगे। जब कुछ कांग्रेस नेताओं के बीच ऐसी चर्चा चलाई थी तो ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी ने इसमें हस्तक्षेप करते हुए इस तरह की बातों पर विराम लगा दिया है। हम चाहते हैं कि भाजपा को सत्ता से बाहर किया जाए। भाजपा की जगह पर एक वैकल्पिक सरकार बने, जो प्रगतिशील हो, प्रत्येक व्यक्ति की आजादी का सम्मान करे, टैक्स आतंकवाद में शामिल ना हो, महिलाओं और बच्चों को सुरक्षा प्रदान करें और किसानों की स्थिति में सुधार लाए।

चिदंबरम ने कहा कि, हम चाहते हैं कि महागठबंधन बने। प्रधानमंत्री पद का फैसला महागठबंधन के सहयोगी चुनाव के बाद करेंगे। चिदंबरम ने कहा कि, पिछले 2 दशकों में क्षेत्रीय पार्टियां तेजी से मजबूत हुई हैं और अब वह राष्ट्रीय पार्टियों का वोट बैंक भी कब्जा रही हैं। चिदंबरम ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस के वोटबैंक में 50% तक की कमी आयी है। केंद्र की बीजेपी सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि, क्षेत्रीय पार्टियां कांग्रेस से हाथ ना मिला लें। अगर सारे दल एक साथ आ जाते हैं तो स्थिति बदल जाएगी और कांग्रेस राज्‍य स्‍तर पर मजबूत गठबंधन तैयार करेगी।

चिदंबरम के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एनसीपी के नेता तारिक अनवर ने कहा कि चिदंबरम ने जो कुछ कहा है वो सोचसमझकर कहा है। वैसे भी देश में कांग्रेस चुनाव से पहले कभी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार का फैसला नहीं करती है। चिदंबरम का ये बयान राहुल गांधी के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर गठबंधन चाहेगा तो वो देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। राहुल ने कहा था कि पहला मकसद ये है कि सभी पार्टियां एकजुट हों और बीजेपी को सत्ता निकाल बाहर करें। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों के कारण राहुल सोमवार को रायपुर पहुंचे।

Share.

About Author

Leave A Reply