ट्रक ड्राइवर से अरबपति बने रूपचंद बेद के कई ठिकाने पर (ईडी) ने छापे मारे।

0

सूरत : तीन बैंकों को 1600 करोड़ का चूना लगाने वाले सिद्धिविनायक लॉजिस्टिक कंपनी के मालिक रूपचंद बेद की 50 करोड़ की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जब्त किये जाने का मामला सामने आया है. उल्लेखनीय है कि ट्रक ड्राइवर से मालिक बनने वाले रूपचंद बेद को गत अप्रैल में बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ महाराष्ट्र और केनरा बैंक से 1600 करोड़ रुपए ऋण लेकर वापस न करने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था.बताया जा रहा है कि रूपचंद ने 450 ट्रक खरीदकर उसके ड्राइवरों को मालिक बनाने का झांसा देकर उनसे रुपए ठगे थे.
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कभी ड्राइवर रहा रूपचंद कम समय में ही करोड़ों की चल -अचल संपत्ति का मालिक बन गया था. इस मामले में उसने सही -गलत सब तरीकों का इस्तेमाल किया था. ED ने उसके सूरत और भरूच के होटल, सूरत, नवी मुंबई, पुणे और भरूच के आॅफिस, सूरत का बंगला, ऑडी कार क्यू 7, ए-4 जगुआर कार, बीएमडब्ल्यू कार, 2.77 करोड़ नगद और सूरत, उदयपुर, दादरा व नगर हवेली और ठाणे के फ्लैट जब्त किये हैं.

Share.

About Author

Comments are closed.