सर्जिकल स्ट्राइक के समय सेनाध्यक्ष रहे जनरल सुहाग ने कहा- साहसिक था PM मोदी का फैसला

0

सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साहसिक फैसला था। सुहाग ने कहा कि सेना ने इस पराक्रम के जरिए पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया गया था। उन्‍होंने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देते हुए इसे उनका ‘बोल्‍ड’ फैसला बताया।

जनरल ने बताया कि वे 23 सितंबर 2016 को पीएम मोदी से मिले थे। तब उन्होंने कार्रवाई की कुछ योजनाएं मोदी के सामने रखी थीं। इस पर कुछ विचार-विमर्श के बाद पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक को मंजूरी दे दी थी। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान को सबक सिखाने के लिए ‘सर्जिकल स्‍ट्राइक’ जरूरी था।

जनरल सुहाग ने कहा कि हम पाकिस्‍तान को कड़ा संदेश देना चाहते थे और इसलिए हमने न‍ियंत्रण रेखा के पार जाकर उनके ठिकानों पर वार किए, जिसमें उन्‍हें बड़ा नुकसान हुआ। वहीं हम बिना किसी नुकसान के नियंत्रण रेखा के इस पार वापस भी आ गए थे। हालांकि, यह कठिन और ज्यादा चुनौतीपूर्ण ऑपरेशन था। लेकिन हमने कार्रवाई की और इस पर देश को गर्व है।

गौरतलब है कि दो साल पहले 28 और 29 सितंबर 2016 की रात को भारतीय सेना ने एलओसी पार कर 7 आतंकी शिविरों को बर्बाद कर दिया था। भारतीय सेना ने उरी में घुसपैठ करने वाले आतंकियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की थी। तब भारत ने पाकिस्तान सहित पूरी दुनिया को अपनी ताकत का परिचय दिया था। भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक से पूरी दुनिया हैरान रह गई थी।

सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने के मौके पर देशभर में अलग-अलग कार्यक्रम किए जा रहे हैं। भारत सरकार इसे पराक्रम पर्व के रूप में मना रही है। सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर जोधपुर में पीएम मोदी ने हथियारों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इस प्रदर्शनी को आम जनता के लिए भी खोला जाएगा।

Share.

About Author

Leave A Reply