दो दिनों तक बंद रहने के बाद फिर से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, बालटाल की जगह पहलगाम के रास्‍ते जा रहे यात्री

0

खराब मौसम के चलते दो दिनों तक बंद रहने के बाद शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा फिर से शुरू हो गई। शुक्रवार को पहलगाम के रास्‍ते यात्रियों के जत्‍थे को रवाना किया गया। बालटाल की तरफ से यात्रा का मार्ग भूस्‍खलन की वजह से लगातार तीसरे दिन भी बंद है। बुधवार को यात्रा को भारी भूस्‍खलन की वजह से दोनों रास्‍तों से बंद कर दिया गया था। जगह-जगह भारी बारिश की वजह से भी यात्रा के मार्ग में खासी दिक्‍कतें आ रही हैं।

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के प्रवक्‍ता की ओर से श्रीनगर में जानकारी दी गई कि दक्षिण कश्‍मीर के अनंतनाग जिले में स्थित पहलगाम के रास्ते से यात्रा शुरू की गई है। उन्‍होंने हालांकि यह भी बताया कि बालटाल वाला रास्‍ता अभी बंद है क्‍योंकि सेंट्रल कश्‍मीर के गांदरबल जिले में बेस कैंप के करीब भूस्‍खलन जारी है। इसके अलावा श्रीनगर-लेह रास्‍ते पर स्थित कंगन के दानीबाग एरिया में भी भूस्‍खलन हो रहा है। दानीबाग में हुए भूस्‍खलन की वजह से श्रीनगर-लेह मार्ग को भी बंद करना पड़ गया। यह अकेला रास्‍ता है जो घाटी को लेह से जोड़ता है।

एक पुलिस अधिकारी की ओर से जानकारी दी गई है कि बालटाल रूट पर बरारीमार्ग और रेलपथरी के बीच मंगलवार को भूस्‍खलन की वजह से तीन तीर्थयात्रियों की मौत हो गई तो वहीं चार तीर्थयात्री घायल हो गए थे। वहीं पश्चिम बंगाल के तीर्थयात्री जिनका नाम संजय संत्रा है उनका निधन गुफा के करीब कार्डियक अरेस्‍ट की वजह से हो गया। कार्डियक अरेस्‍ट की वजह से छह और व्‍यक्तियों की मौत हो चुकी है। अमरनाथ 3880 मीटर की ऊंचाई पर है और 28 जून से शुरू हुई इस यात्रा में अब तक करीब 12 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। सेंट्रल कश्‍मीर के गांदरबल में अमरनाथ जाने वाले यात्रियों को ले जा रही बस पलट गई जिसमें दो व्‍यक्ति घायल हो गए हैं। यह बस कंगन के गानिवान में पलटी है। घायल व्‍यक्तियों को पास के अस्‍पताल में भर्ती करा दिया गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply