दिल्ली में निर्माण कार्यों पर रोक,प्रदूषण और खतरनाक स्तर पर पहुँचने की चेतावनी

0

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अधीन संचालित सफर ने बुधवार को जारी रिपोर्ट में कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में नमी बढ़ेगी और 2 नवम्बर से हवा की गति धीमी होगी। ऐसे में 3 नवम्बर से प्रदूषण और भी भयावह हो जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार हवा का रुख उत्तर पश्चिम की ओर होने से पंजाब और हरियाणा में पराली जलने से उठने वाला धुआं दिल्ली की तरफ होगा। वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी होगी। सफर ने अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की तस्वीरों के आधर पर बताया कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलने की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा दिल्ली में 1 नवम्बर से 10 नवम्बर तक प्रदूषण की अधिकतम मात्रा की चेतावनी गई है। इसको ध्यान में रखते हुए दिल्ली स्टेट पब्लिक स्कूल्स मैनेजमेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष आर सी जैन ने सलाह देते हुए कहा है कि सभी पब्लिक स्कूलों में होने वाली प्रार्थना सभा व खेल कूद की होने वाली गतिविधियों को दस दिन के लिए रोक दिया जाए।

ताकि बच्चों को प्रदूषण से बचाया जा सके। जैन ने बताया कि जहां इस को लेकर देश की सर्वोच्च न्यायालय ने इन्वायरमेन्टल पोल्यूशन कन्ट्रोल अथॉरिटी का गठन करके इस पर सख्ती से निगरानी करने का आदेश दिया है। छोटेे-छोटे बच्चे जिन पर दूषित वातावरवण का तुरंत प्रभाव होता है। इनको बचाने के लिए स्कूलों ने भी अपने स्तर पर बच्चों को कक्षाओं से बाहर होने वाले सभी गतिविधियों को 10 नवम्बर तक स्थगित करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही बच्चों को स्कूलों में दिवाली के अवसर पर पटाखे न जलाने की सलाह दी जा रही है। ताकि बच्चे इससे होने वाले दुष्परिणाम को जान सकें।

आज से निर्माण पर लगी रोक

दिल्ली एनसीआर में निर्माण पर रोक

सभी स्टोन क्रशर संयंत्र बंद रहेेंगे

कोयला एवं बायोमास ईंधन उद्योग नहीं चलेंगे

डीजल वाले जेनरेटर सेट पहले से ही बंद हैं

बदरपुर बिजली संयंत्र भी बंद कर दिया गया है

ईंट भट्ठों को भी बंद रखा जाएगा

मुंडका औद्योगिक क्षेत्र भी बंद रखा जाएगा

रात्रि के समय ज्यादा पेट्रोलिंग की जाएगी, ताकि कोयला आधारित इकाइयां अवैध रूप से काम न कर सकें

इलेक्ट्रिक बस: शुक्रवार से ट्रायल

एक हजार इलेक्ट्रिक बसों को राजधानी की सड़कों पर उतारने की स्कीम को आगे बढ़ाते हुए दिल्ली सरकार 2 नवम्बर से इलेक्ट्रिक बसों का ट्रायल शुरू कर रही है। शुक्रवार से 522 नंबर रूट पर अम्बेडकर नगर टर्मिनल से इंद्रपुरी (कृषि कुंज) के बीच एक इलेक्ट्रिक बस चलाई जाएगी। अगले ही हफ्ते से एक और इलेक्ट्रिक बस को ट्रायल पर चलाया जाएगा। सरकार ने 1000 इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिए कंसल्टेंट नियुक्त करने को मंजूरी दी है।

राजधानी दिल्ली और इसके आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण की स्थिति लगातार गंभीर होती जा रही है। सॢदयां आने से पहले ही आसमान धुएं और धुंध से ढक गया है। इस बढ़ते प्रदूषण से सेहत की सुरक्षा के तमाम प्रयासों के बीच उम्मीद की एक किरण दिखी है। उद्योग एवं चिकित्सकीय प्रयोग के लिए गैस बनाने वाली अग्रणी फर्म गुप्ता ऑक्सीजन प्राइवेट लिमिटेड ने ऑक्सीजन कैन ‘माईऑक्सी’ को लांच किया है। माईऑक्सी पोर्टेबल कैन्स में उपलब्ध एकमात्र ऑक्सीजन आई.पी. है जिसे एफडीए द्वारा अनुमति प्रदान की गई है और इसे भारतीय फार्माकोपियल मानकों का अनुपालन करते हुए वैध ड्रग लाइसेंस के तहत निर्मित किया गया है।

राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के शहरों में खराब होती वायु गुणवत्ता के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो ने बुधवार को 21 अतिरिक्त ट्रेनें चलाईं। ये 812 अतिरिक्त फेरे लगाएगी। यह कदम उस दिन उठाया गया है जब पिंक लाइन के शिव विहार से त्रिलोकपुरी-संजय लेक के बीच के 17.8 किलोमीटर के हिस्से को आम लोगों के लिए खोला गया है।

मेट्रो प्रवक्ता ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में बदतर होती वायु गुणवत्ता के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो ने 31 अक्तूबर को 21 अतिरिक्त ट्रेनें चलाईं जो 812 अतिरिक्त फेरे लगाएंगी। उन्होंने कहा कि इनमें लाइन-7 के खंड शिव विहार- त्रिलोकपुरी संजय लेक पर 730 चक्कर लगाने वाली 14 ट्रेंने शामिल हैं। इसी के साथ पहली बार मेट्रो ट्रेनें एक दिन में 4,831 चक्कर लगाएंगी।

Share.

About Author

Leave A Reply