घरेलू एयरलाइंस में सौ फीसदी FDI पर इंटेलिजेंस ब्यूरो ने जताई आपत्ति।

0

नई दिल्लीः घरेलू एयरलाइंस में 100 फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के प्रस्ताव पर इंटेलिजेंस ब्यूरो ने आपत्ति जताई है. आईबी ने सुरक्षा कारणों से इस पर गंभीर चिंता व्यक्त की है. एयरलाइंस में 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी के निर्णय को फ़िलहाल विमानन मंत्रालय ने रोक दिया गया है. उल्लेखनीय है कि गृह सचिव राजीव महर्षि की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में नागरिक विमानन मंत्रालय और आईबी के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए थे. बैठक में घरेलू एयरलाइंस में 100 फीसदी एफडीआई पर चिंता जाहिर की गई.आईबी द्वारा व्यक्त की गई चिंताओं के बारे में नागरिक विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा कि यदि ऐसा है तो इस मामले पर विचार किया जाएगा. आईबी का मानना है कि विमानन विभाग बेहद ही संवेदनशील क्षेत्र है. इसलिए घरेलू एयरलाइंस में 100 फीसदी एफडीआई को मंजूरी नहीं दी जा सकती है.गैर-एयरलाइंस कंपनी को घरेलू एयरलाइंस में 100 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करने के लिए एयरक्राफ्ट नियमों में संशोधन करना जरुरी है. यहाँ यह बात काबिले गौर है कि अमेरिका और कनाडा जैसे विकसित देशों में भी उनके घरेलू विमान सेवा में केवल 25 फीसदी विदेशी निवेश को मंजूरी दी गई है.

Share.

About Author

Comments are closed.