कश्मीर में बाढ़ का संकट

0

श्रीनगर : कश्मीर घाटी में गुरुवार रात से बारिश बंद होने के बाद आज झेलम और इसकी सहायक नदियों का जलस्तर घटना शुरू हो गया है। अधिकारियों ने बताया कि नदियों का जलस्तर कम होने से बाढ़ का खतरा कम हो गया है। अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के संगम में झेलम का जलस्तर रात करीब तीन बजे से कम होना शुरू हो गया। हालांकि श्रीनगर के राम मुंशी बाग के जलस्तर में अभी भी मामूली बढ़ोतरी जारी है, लेकिन कुछेक घंटों में इसके कम होने के आसार हैं। अधिकारियों ने बताया कि रात करीब दो बजे संगम का जलस्तर सर्वाधिक 22.10 फुट पर था, लेकिन सुबह सात बजे तक यह घटकर 21.70 फुट पर आ गया। वैशव, रामबायरा और लिद्दर जैसी सहायक जलधाराओं में पिछले कई घंटों के दौरान उल्लेखनीय कमी आई है।

उल्लेखनीय है कि श्रीनगर के राम मुंशी बाग में झेलम नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पार पहुंच गया था। जिसके बाद अधिकारियों ने आपातकाल नियंत्रण कक्ष स्थापित किये थे। अभी तक पुंछ जिले में बाढ़ में फंसे 17 लोगों को बचाया गया है, जबकि राजौरी में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गयी है।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की और बाढ़ की स्थिति से निबटने के लिए हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया। इस संबंध में पीएम मोदी ने ट्वीट किया, राज्य में बाढ़ के हालात को लेकर जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की। हालात से निपटने के लिए केंद्र के हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया।

Share.

About Author

Comments are closed.