एक बार फिर तेजाब हमले की शिकार हुई महिला।

0

लखनउ: राजधानी लखनउ के अलीगंज थाना क्षेत्र में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार और तेजाब हमले की शिकार हो चुकी एक महिला पर कथित रूप से एक बार फिर तेजाब डाले जाने की खबर है।
कथित पीड़ित महिला के मुताबिक यह घटना कल रात उस हॉस्टल के पास हुई जहां वह रहती है। करीब 45 वर्षीय इस महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत स्थिर बताई जाती है।
उसके चेहरे और गले पर जले का निशान है। हालांकि अभी इस मामले में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है और पुलिस तहरीर का इंतजार कर रही है। मामले की जांच की जा रही है। इस बीच, प्रदेश की महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि हॉस्टल में एक गार्ड था और छत पर कुछ लड़कियां भी थीं, लेकिन उन्होंने किसी भी संदिग्ध व्यक्ति को नहीं देखा। बहरहाल, यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि इसी महिला को तेजाब पिलाने के मामले में जिन लोगों की नामजदगी की गयी थी, उन्हें पुलिस ने अनौपचारिक रूप से बैठाया हुआ है। जांच चल रही है। पुलिस और हमारा विभाग तत्पर है।
इस घटना को लेकर सपा ने प्रदेश की भाजपा सरकार को कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर घेरा। उसने कहा, Þ Þये भाजपा के लोग पिछली सपा सरकार के कार्यकाल में कानून-व्यवस्था को लेकर खूब हो-हल्ला मचाते थे, अब वे नियंत्रण खो चुके हैं और प्रदेश में अराजक तत्वों का शासन हो गया है। Þ Þ कांग्रेस नेता देवेन्द्र प्रताप सिंह ने भी भाजपा सरकार पर ऐसी वारदात रोकने में नाकाम होने का आरोप लगाया।
हालांकि पुलिस इस वारदात को संदिग्ध मान रही है। उसका कहना है कि किसी ने भी हमलावर को तेजाब फेंककर भागते हुए नहीं देखा।
एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि ना तो हॉस्टल की वार्डन और ना ही किसी लड़की ने हमलावर को देखा। हम पीड़ित का बयान लेने की कोशिश कर रहे हैं।

Share.

About Author

Comments are closed.