उच्चतम न्यायालय में पांच न्यायाधीशों ने शपथ ग्रहण की

0

उच्चतम न्यायालय में पांच नए न्यायाधीशों ने आज शपथ ग्रहण की और इसे साथ ही प्रधान न्यायाधीश समेत न्यायालय में न्यायाधीशों की कुल बढ़कर 28 हो गई है। प्रधान न्यायाधीश जे एस खेहर ने न्यायमूर्ति संजय कृष्ण कौल, न्यायमूर्ति नवीन सिन्हा, न्यायमूर्ति मोहन एम शांतानागौदार, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर को शपथ दिलाई। न्यायमूर्ति कौल मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और न्यायमूर्ति सिन्हा राजस्थान उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाशीध के तौर पर कार्यभार संभाल चुके हैं। न्यायमूर्ति शांतानागौदार और न्यायमूर्ति गुप्ता क्रमश: केरल और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीश थे। न्यायमूर्ति नजीर कर्नाटक उच्च न्यायालय के न्यायाधीश रह चुके हैं। उच्चतम न्यायालय में प्रधान न्यायाधीश सहित न्यायाधीशों की अधिकतम संख्या 31 हो सकती है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने हाल में उनकी नियुक्ति वारंट पर हस्ताक्षर किए थे। इस वक्त जस्टिस जेएस केहर देश के चीफ जस्टिस हैं। वह भारत के 44वें चीफ जस्टिस हैं। उनका कार्यकाल 4 अगस्त 2017 तक रहेगा। न्यायमूर्ति केहर 13 सितंबर, 2011 को उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त हुये थे। न्यायमूर्ति केहर को आठ फरवरी 1999 को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। इसके बाद दो अगस्त, 2008 को उन्हें इसी उच्च न्यायालय का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। न्यायमूर्ति केहर 17 नवंबर, 2009 को उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बने। इसके बाद उन्हें आठ अगस्त, 2010 को कर्नाटक उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश की जिम्मेदारी भी सौंपी गयी थी।

Share.

About Author

Comments are closed.