आपको मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिलने में वास्तुदोष भी कारण हो सकता है |

0

दुनिया में ऐसे बहुत से इंसान है जो मेहनत तो खूब करते हैं लेकिन उन्हे मेहनत के अनुसार सफलता नहीं मिल पाती जिसकी वजह से वह निराश हो जाते हैं। लेकिन कभी आपने सोचा है की इतनी मेहनत करने के बावजूद आखिर सफलता क्यों नहीं मिल पा रही है? इस कारण को अगर वास्तु के अनुसार देखें तो इसका कारण वास्तुदोष भी हो सकता है, जी हां वास्तुदोष के कारण ही कई लोगों की नौकरी नहीं लग पा रही है, व्यपार मे सफलता नहीं मिल रही है और भी कई कारण है जिसकी वजह कुछ और नहीं बल्कि वास्तु दोष हो सकता है, तो चलिए देखते है की सफलता न मिलने के क्या वास्तुदोष हो सकते हैं।

बैठते समय हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की ओर रहे।
कम्प्यूटर मॉनीटर दक्षिण-पूर्व दिशा में होनी चाहिए।
हमेशा इस तरह बैठें कि आपकी पीठ के पीछे ठोस दीवार हो और खिड़की न हो। अगर बैठने की कोई अन्य व्यवस्था न हो सके तो खिड़की पर पर्दे या ब्लाईंड का प्रयोग करें।
मेज कक्ष हमेशा केबिन के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में होनी चाहिए। डेस्क इस प्रकार लगाया जाए कि दरवाजा पीठ पीछे न रहे।
डेस्क अथवा सामने के बोर्ड पर कुछ मनपसंद वस्तुएं अथवा प्रियजनों की तस्वीरें रखी या लगाई जा सकती हैं। इनसे कार्यस्थल की नीरसता के बीच तनाव से मुक्ति, स्फूर्ति और प्रसन्नता का संचार होता है।
ध्यान रखें कि जिस कुर्सी पर आप बैंठें वह आरामदायक हो और उसकी ऊंचाई आपके अनुसार सही हो। आरामदायक कुर्सी होने से स्वत: ही कार्यक्षमता में वृद्धि होती है।

Share.

About Author

Leave A Reply